Menu
blogid : 316 postid : 1396126

6 दिन में रिकॉर्ड 10 लाख से ज्‍यादा लोगों को वैक्‍सीन लगी, आधा दर्जन देशों में पहुंचा भारतीय टीका

देश में कोरोना टीकाकरण अभियान तेज गति से चल रहा है। 16 जनवरी से अब तक 10 लाख से ज्‍यादा लोगों को वैक्‍सीन लगाई जा चुकी है। भारत आधा दर्जन से ज्‍यादा पड़ोसी देशों की मदद के लिए वैक्‍सीन के 40 लाख से ज्‍यादा डोज की खेप रवाना कर चुका है। 22 जनवरी को म्‍यांमार समेत तीन देशों में वैक्‍सीन की खेप भेजी गई है।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 22 Jan, 2021
Image courtesy: Al Jazeera

एक दिन में 2 लाख से ज्‍यादा को लगा टीका
देश में टीकाकरण अभियान शुरू हुए 6 दिन हो चुके हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 2,37,050 लोगों को वैक्‍सीन लगाई गई है। 21 जनवरी को 1,92,581 लोगों को टीके लगा। इसके अलावा 20 जनवरी को 1,12,007 लोगों को, 19 जनवरी को 1,77,368 लोगों को टीका और 18 जनवरी को 1,48,266 लोगों को वैक्‍सीन लगाई गई थी।

कर्नाटक और आंध्र पदेश में सर्वाधिक टीके लगे
एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार अभियान की शुरआत के 6 दिन बाद कुल 10,43,534 हेल्‍थ वर्कर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया जा चुका है। टीकाकरण के मामले में भारत दुनिया के कई देशों से आगे है। एक दिन में सबसे ज्‍यादा लोगों का वैक्‍सीन लगाने में भारत सबसे आगे है। सबसे ज्‍यादा कर्नाटक में 1.38 लाख और आंध्र प्रदेश में 1.15 लाख को अब तक वैक्‍सीन लगाई जा चुकी है।

Infographic courtesy: Dr Harsh Vardhan

7 देशों में पहुंची भारतीय कोरोना वैक्‍सीन
भारत ने 20 जनवरी से पड़ोसी देशों को वैक्‍सीन के डोज देने शुरू किए हैं। 21 जनवरी तक मालदीव, नेपाल, बांग्‍लादेश, भूटान में 32 लाख से ज्‍यादा डोज पहुंचाए जा चुके थे। 22 जनवरी को म्‍यांमार के लिए 15 लाख डोज, मॉरीशस के लिए 1 लाख डोज और अफ्रीकी देश सेचेल्‍स के लिए 50 हजार कोवीशील्‍ड वैक्‍सीन के डोज की खेप रवाना की जा चुकी है। श्रीलंका और अफगानिस्‍तान भारतीय वैक्‍सीन पाने के लिए लाइन में हैं।…NEXT

 

ये भी पढ़ें: अब तक कितने लोगों को लगी कोरोना वैक्‍सीन, जानें

7 महीने में पहली बार सबसे कम सिर्फ 10 हजार मरीज मिले 

वैक्‍सीन से जुड़े सभी सवालों के जवाब यहां जानें 

साल 2021 में जनवरी से दिसंबर तक सेहतमंद रहने के 12 तरीके

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *