Menu
blogid : 316 postid : 1397244

मिसाल: 10 रुपये में कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर विक्टर, सैनिकों का फ्री ट्रीटमेंट

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 31 May, 2021

कोरोना महामारी के दौरान में लोगों को अस्‍पतालों में दवा और बेड मिल पाना बेहद मुश्किल काम हो गया है, जबकि, महंगे इलाज का खर्च अलग। ऐसे में हैदराबाद के एक डॉक्‍टर ने मिसाल पेश करते हुए कोरोना मरीजों का मात्र 10 रुपये में इलाज करने का दावा किया है। वह हर रोज 100 से ज्‍यादा मरीजों का इलाज कर रहे हैं, जबकि पिछले साल उन्‍होंने 25 हजार से अधिक कोरोना मरीजों का इलाज कर चुके हैं।

Dr. Victor Emmanuel. ANI

हैदराबाद के बोद्दूप्‍पल में क्‍लीनिक
हैदराबाद के बोद्दुप्‍पल इलाके में क्‍लीनिक चलाने वाले डॉक्‍टर विक्‍टर इमैनुएल ने एएनआई को बताया कि वह 10 रुपये में कोरोना मरीजों का इलाज करते हैं। वह डायबिटीज, कार्डिएक रिलेटेड बीमारी समेत अन्‍य बीमारियों का इलाज करते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक वह 2018 से मरीजों का इलाज मात्र 10 रुपये फीस लेकर कर रहे हैं।

सैनिकों के लिए फ्री इलाज की सुविधा
डॉक्‍टर विक्‍टर इमैनुएल ने बताया कि उन्‍होंने क्‍लीनिक की शुरुआत जरूरतमंद लोगों की मदद के इरादे से की थी। एक बार उन्‍होंने एक महिला को अपने पति की दवा खरीदने के लिए भीख मांगते देखा था। तब उन्‍होंने जरूरतमंद और गरीबों का सस्‍ता इलाज करने की ठान ली थी। राशन कार्ड धारकों व अन्‍य लोगों से 10 रुपये बतौर फीस लेते हैं। जबकि, सैनिकों के लिए वह मुफ्त सेवा है। वह किसानों, एसिड अटैक सर्वाइवर, अनाथ और विकलांगजनों और उनके परिवारों के इलाज के लिए वह हमेशा तैयार रहते हैं।

25 हजार कोरोना मरीजों का इलाज
कोरोना मरीजों के लिए वह खासतौर पर सेवा दे रहे हैं। वर्तमान में वह हर रोज 100 से ज्‍यादा कोरोना मरीजों का ट्रीटमेंट कर रहे हैं। उनके क्‍लीनिक में 140 मरीजों के लिए जगह है। जो महामारी के दौरान 150 तक मरीज आने से भर गई थी। बाद में उन्‍होंने हल्‍के लक्षण वाले मरीजों को घर में आइसोलेट करने में मदद की। उन्‍होंने कहा कि पिछले एक साल में वह 20-25 हजार कोरोना मरीजों का इलाज कर चुके हैं।

Dr. Victor Emmanuel. ANI

भोजन भी करा रहे डॉक्‍टर विक्‍टर
डॉक्‍टर विक्‍टर इमैनुएल ने कहा कि इतनी बड़ी संख्‍या में हर रोज लोगों को इलाज उपलब्‍ध कराना थोड़ा मुश्किल था। लेकिन इस काम उनके परिवार और उनकी डॉक्‍टर पत्‍नी ने पूरा सहयोग दिया। बाद में लोग और संगठन मदद के लिए आगे आए और तब से सस्‍ते इलाज की मुहिम जारी है। वह स्‍नेह हस्‍थम कार्यक्रम के जरिए महामारी के दौरान लोगों को भोजन भी करा रहे है। ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को 10 रुपये में इलाज देने के लिए वह चैरिटेबल हॉस्पिटल शुरू करने की तैयारी में हैं।

 

ये भी पढ़ें – 

स्टडी: देश के 50 फीसदी लोग अब भी नहीं पहन रहे मास्क

आंख-नाक के पास इंफेक्शन हो सकता है ब्लैक फंगस, जान लें लक्षण

DRDO ने लांच की कोरोना की दवा, मरीजों को ठीक करने में सफल

पहली बार 525 बच्चे कोवैक्सीन ट्रायल का हिस्सा बनेंगे

मनुष्‍य के बाद पहली बार 9 गोरिल्‍ला को लगी कोरोना वैक्‍सीन

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *