Menu
blogid : 316 postid : 1394897

कोरोना से बचने के लिए कैसा हो आपका फेस मास्क, अस्पताल जाएं तो कौन सा पहनें मास्क, जानें नए सुझाव और गाइडलाइन

Rizwan Noor Khan

14 Sep, 2020

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना महामारी के मद्देनजर घर से बाहर निकलने वाले हर शख्स को फेस मास्क अनिवार्य बताया है। मास्क की क्वालिटी और क्षमता को लेकर भी समय समय पर मंत्रालय और विशेषज्ञों की ओर से गाइडलाइन और सुझाव आते रहे हैं। अब फिर से लोगों को उनके फेस मास्क के बारे अवेयर किया जा रहा है। लोगों को सही मास्क चुनने, इस्तेमाल और निस्तारण के तरीकों पर लोगों को स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बार फिर जागरूक करते हुए दिशानिर्देश जारी किए हैं।

फेस मास्क का सही चयन कोरोना से बचाएगा
सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के मुताबिक कोरोना से बचने के लिए फेस मास्क का सही चुनाव जरूरी है। इसके अलावा उसे पहनने का तरीका भी बेहद महत्वपूर्ण है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अस्पताल में कोरोना या किसी अन्य मरीज के रूम में जाते हैं तो तीन लेयर वाला मेडिकल मास्क पहनना चाहिए। वापस लौटने पर उसे नष्ट करें न कि पूरा दिन पहने घूमते रहें।

मास्क गीला या गंदा होने पर क्या करें
मास्क पहने हुए यात्रा के दौरान या किसी भी वक्त उसके फ्रंट हिस्से को न छुएं। अगर मास्क गंदा हो गया है या पसीने से गीला हो गया है तो उसे तुरंत बदल लें। मास्क को उतारते समय कान के हिस्से से पकड़ें और सीधे सही डस्टबिन में डालें। मास्क उतारने के बाद तत्काल हाथों और चेहरे को अच्छे से धुलें और हाथों को सैनेटाइज करें।

मास्क लगाने के साथ ये भी ध्यान रखें
सिर्फ मास्क लगाना ही कोरोना के संक्रमण से नहीं बचा सकता है। इसके लिए भीड़भाड़ वाले इलाकों से दूर रहें और लोगों के संपर्क में आने से बचें। कम से कम एक मीटर की दूरी का पालन करें। नियमित अंतराल में हाथ, पैर और चेहरे को धुलें और सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें।

इन बातों का हरदम ख्याल रखें
कोई भी व्यक्ति ढीला मास्क कतई न पहनें। मास्क पहनने के बाद किसी से बात करने के लिए मास्क को हटाएं नहीं। इसके अलावा अपने मास्क को दूसरों की पहुंच से दूर रखें। साथ ही यूज किया हुआ मास्क दोबारा इस्तेमाल न करें और दूसरे का मास्क कभी न पहनें। मास्क को हर दिन धुलें या हो सके तो उसे बदल दें।

कौन सा मास्क सही और कौन सा खराब
केंद्र सरकार ने पहले ही N-95 फेस मास्क को लेकर चेतावनी दी है कि यह मास्क कोरोना के संक्रमण को रोकने में सक्षम नहीं है। लोग छिद्र वाले मास्क का इस्तेमाल कर समझ रहे हैं कि वायरस के अटैक से बच जाएंगे, पर ऐसा नहीं है। इसलिए एयर वॉल वाले मास्क का इस्तेमाल करने की बजाय कॉटन से घर में बने या फैक्ट्री में ट्रिपल लेयर वाले मास्क का इस्तेमाल करें।…NEXT

 

 

Read More: 5 प्रदेश सबसे ज्यादा बढ़ा रहे कोरोना मरीज

कोरोना वैक्सीन से खतरनाक साइड इफेक्ट के बाद परीक्षण रद

फेक कोरोना रिपोर्ट जारी कर ऐंठते थे मोटी रकम, डॉक्टर समेत 3 गिरफ्तार

इस गांव में 16 अगस्त तक एक भी मरीज नहीं था पर अब हर चौथा शख्स पॉजिटिव

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *