Menu
blogid : 316 postid : 1392134

मौत के खौफ से तिल तिल मर रहे डेढ़ लाख से ज्‍यादा लोग, पूरा विश्‍व बचाने में जुटा

Rizwan Noor Khan

17 Mar, 2020

Coronavirus Latest Upadate : दुनियाभर के लिए चुनौती बन चुका कोरोना वायरस का इलाज नहीं खोजा जा सका है। इलाज नहीं मिलने और लगातार हो रही मौतों के डर से इस वायरस की चपेट में आए लोग मौत के खौफ से दहशतजदा हैं। इन लोगों को बचाने के लिए दुनिया के सबसे अच्‍छे चिकित्सकों की टीमें जुटी हुई हैं। वायरस की गिरफ्त में आए लोगों की काउंसलिंग भी की जा रही है।

 

 

 

 

150 देशों में फैला वायरस
विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की ताजा रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि दुनिया के करीब 150 देशों के 170,000 लोग जानलेवा कोरोना वायरस की गिरफ्त में हैं। इस बीमारी का इलाज अब तक नहीं खोजे जाने से इन लोगों में मौत को लेकर दहशत है। हर घंटे मर रहे लोगों की खबरें लगातार सामने आने से आम लोगों में भी डर का माहौल बन रहा है।

 

 

 

 

6 हजार से ज्‍यादा मरे
WHO की रिपोर्ट में बताया गया है कि कोरोना वायरस की वजह से अब 6,600 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। सबसे ज्‍यादा मौतें चीन, इटली, ईरान में हुई हैं। मौतों और मरीजों की संख्‍या में कमी नहीं रही है। भारत में भी 17 मार्च को महाराष्‍ट्र में एक 64 साल के संक्रमित व्‍यक्ति की मौत हो गई। इस तरह भारत में इस वायरस से मरने वालों की संख्‍या 3 पहुंच गई है।

 

 

 

 

ईरान और इटली में दहशत
चीन के बाद सबसे ज्‍यादा तेजी से इस वायरस ने इटली और ईरान में लोगों को अपना शिकार बनाया है। ईरान में 14000 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 850 से ज्‍यादा मर चुके हैं। इटली 25000 हजार लोग संक्रमित हैं और 1800 लोग मर चुके हैं। दोनों देशों में हाई अलर्ट घोषित किया गया है। यहां कर्फ्यू के हालात हैं और लोगों को घरों में रहने को कहा गया है।

 

 

 

 

स्‍पेन में बाहर निकलने पर पाबंदी
कोरोना वायरस कारण स्‍पेन के लोग दहशत में हैं। यहां आम लोगों के अलावा प्रधानमंत्री पेद्रो सेंचेज की पत्‍नी बेगोना गोमेज समेत कई दिग्‍गज नेता और मंत्री वायरस की चपेट में हैं। उप प्रधानमंत्री पाब्‍लो इग्‍लेसिआस की पार्टनर और मंत्री इरेने मोंटेरो भी वायरस से ग्रस्‍त हैं। दिग्‍गज नेता सैंटिआगो अबास्‍कल और ओर्टेगा स्मिथ भी संक्रमित हैं। प्रधानमंत्री ने देश में हाई अलर्ट घोषित कर दिया है और सभी तरह के भीड़भाड़ वाले इलाकों को बंद करवा दिया है।

 

 

 

 

इलाज नहीं मिलने से खौफ
WHO के निदेशक टड्रोस ने कहा है कि इस वायरस को खत्‍म करने के लिए अभी किसी भी तरह की वैक्‍सीन नहीं बनाई जा सकी है। इसकी रोकथाम और बचने के उपाय जरूर खोजे गए हैं। हालांकि, पिछले दिनों चीन के कुछ विशेषज्ञों ने 3 हजार साल पुरानी विधि से कोरोना ठीक करने का दावा किया था। भारत में कोरोना के इलाज में उपयुक्‍त की गई दवा के परिणाम सकारात्‍मक आने का दावा किया गया है। हालांकि, आधिकारिक रूप से अभी तक किसी भी वैक्‍सीन और दवा बनाने की बात नहीं कही गई है।

 

 

काउंसिलिंग सेंटर बने
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लोगों को कोरोना वायरस के खौफ और अफवाहों से बचाने के लिए कई देशों ने काउंसिलिंग और प्रचार अभियान भी शुरू किया है। अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन, सउदी अरब, ईरान, इटली जैसे देशों ने संक्रमित मरीजों को हिम्‍मत देने के लिए काउंसिलिंग भी कर रहे हैं। इसके अलावा आइसोलेशन सेंटर में काउंसिलिंग सेंटर भी बनाए जा रहे हैं। वहीं, आम जनता को भी सोशल मीडिया और प्रचार अभियान के जरिए कोरोना वायरस के प्रति अवेयर किया जा रहा है। …NEXT

 

 

 

Read More:

अस्‍पताल से भागे कोरोना वायरस मरीज तो कांपने लगी पुलिस

मालिक से कुत्‍ते में पहुंचा कोरोना वायरस, जांच के रिजल्‍ट से खलबली मची

कोरोना वायरस से बचने के ये 3 सबसे आसान तरीके, WHO से लेकर भारत सरकार भी कर रही प्रमोट

कोरोना वायरस : हेल्‍पलाइन नंबर पर तकलीफ बताइये तुरंत आएगी मेडिकल टीम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *