Menu
blogid : 316 postid : 1394192

रक्षाबंधन पर भाई ने पूछा क्या गिफ्ट चाहिए, बहन ने कहा गलत रास्ता छोड़ दो, 8 लाख के इनामी ने कर दिया सरेंडर

Rizwan Noor Khan

6 Aug, 2020

 

 

 

रक्षाबंधन पर्व भाई-बहन के मजबूत पवित्र रिश्ते का प्रतीक माना जाता है। आज यानी 3 अगस्त को पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ पावन पर्व मनाया जा रहा है। इस मौके पर एक बहन ने अपने नक्सल कमांडर भाई से उपहार में गलत रास्ता छोड़ने की मांग रखी तो प्रशासन के लिए चुनौती बने 8 लाख के ईनामी भाई ने बंदूक का रास्ता छोड़कर आत्मसमर्पण कर दिया।

 

 

 

 

पूरे देश ने देखी रक्षासूत्र की ताकत
रक्षाबंधन के रक्षासूत्र में कितनी ताकत होती है यह पूरे देश ने आज पर्व के मौके पर आज देख लिया है। दरअसल, हम बात कर रहे हैं पुलिस, प्रशासन और सुरक्षाबलों के लिए परेशानी का सबब बने 8 लाख रुपये के इनामी मल्ला की। छत्तीसगढ़ राज्य में दंतेवाड़ा के जंगलों में रहने वाले मल्ला नक्सली हैं। वह नक्सल ग्रुप के डिप्टी कमांडर हैं और उन्होंने रक्षाबंधन के पवित्र मौके पर आत्मसमर्पण कर दिया है।

 

 

अपनी बहन के साथ नक्सल कमांडर मल्ला।

 

 

बहन के कहने पर नक्सली कमांडर ने सरेंडर किया
एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक दंतेवाड़ा में सुरक्षाबलों के लिए चुनौती बने नक्सली मल्ला जब 3 अगस्त को रक्षाबंधन के मौके पर राखी बंधवाने गए। ​मल्ला ने अपनी बहन से उपहार मांगने के लिए कहा तो बहन ने बंदूक और बगावत छोड़ सही रास्ते पर आने को कहा। बहन ने कहा कि प्रशासन के सामने आत्मसर्मण कर दो।

 

 

दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव.

 

 

12 साल की उम्र घर से भागा था, 14 साल बाद लौटा
मल्ला ने अपनी बहन की बात मानते हुए हमेशा के लिए बंदूक छोड़ने का वादा कर दिया। मल्ला ने दंतेवाड़ा के एसपी कार्यालय में बंदूक छोड़ते हुए आत्मसमर्पण कर दिया। मल्ला ने 12 साल की उम्र में घर से भागकर नक्सली गिरोह को ज्वाइन कर लिया था। 2016 से वह नक्सल प्लाटून का डिप्टी कमांडर था। अब 14 साल बाद उसने गलत रास्ता छोड़ दिया है।

 

 

 

 

कई सुरक्षाकर्मियों की मौत का जिम्मेदार
एएनआई से बात करते हुए दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने कहा कि नक्सली मल्ला पर 8 लाख का ईनाम था। उसने कई सुरक्षाकर्मियों को अपनी गोली का शिकार बनाया है। कई पुलिसकर्मियों की भी मौत उसके हमलों में हुई है और कई घायल हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि मल्ला कई बड़ी घटनाओं में शामिल रहा है।..NEXT

 

 

 

Read More :

कोरोना के इलाज में कारगर नई दवा को मंजूरी मिली, बिक्री शुरू हुई जानिए दवा की कीमत

फाइनल स्टेज पर पहुंची कोरोना की दो वैक्सीन, दुनियाभर में 23 वैक्सीन ह्यूमन ट्रायल फेज में

फांसी पर लटकने से पहले ही मर गए 8 हत्यारे, मौत की वजह बनी ये बीमारी

देश के एक राज्य में कोरोना के लाखों संक्रमित और एक में एक भी मरीज नहीं, जानिए राज्यों की ताजा स्थिति

शरीर में चकत्ते और खुजली हो तो लापरवाही न बरतें, ये कोरोना संक्रमण का संकेत, रिसर्च में दावा

दुनिया के 12 देशों की सीमा लांघ नहीं पाया कोरोना, अब तक नहीं मिला एक भी मरीज

 

 

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *