Menu
blogid : 316 postid : 1389430

दिल्ली के रिहायशी इलाकों में सील हो जाएंगी दुकानें, शोरूम और रेस्तरां!

राजधानी दिल्‍ली में हाल ही में हुई सीलिंग को लेकर खूब हो-हल्‍ला मचा। व्‍यापारी दुकानों में ताले जड़कर सड़कों पर उतर आए थे। सीलिंग का जमकर विरोध हुआ था। व्‍यापारियों ने खूब प्रदर्शन किया था। इसे लेकर सियासी गलियारों में भी आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर चला। अब एक बार फिर से दिल्‍ली में सीलिंग का डंडा चल सकता है। ऐसा लोगों को हो रही परेशानियों को ध्‍यान में रखते हुए किया जाएगा। आइये आपको इसके बारे में विस्‍तार से बताते हैं।

 

 

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को दिया निर्देश

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में शहरी अव्यवस्था पर काबू पाने के लिए केंद्र सरकार से रेजिडेंशियल कॉलोनियों में अवैध रूप से खुली बड़ी दुकानें, शोरूम और रेस्‍तरां को सील करने को कहा है। हाल ही में जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच ने फैसला किया कि वे झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले गरीब लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेंगे, क्योंकि उनके पास रहने के लिए कोई और विकल्प नहीं है। बेंच ने कहा कि अमीर लोग जो धंधा चला रहे हैं, उसे बख्शा न जाए। साथ ही कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि वे दिल्ली के लोगों को बुनियादी सुविधाओं से वंचित रख, उनके साथ ‘मवेशियों’ जैसा व्यव्हार न करे। कोर्ट ने कहा कि हर एक शख्स को सम्मान के साथ रहने का हक है।

 

 

‘पूरी तरह से केंद्र सरकार ही जिम्मेदार नहीं’

एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) एएनएस नदकरणी ने यह बात स्वीकारी कि दिल्ली में अवैध और अनाधिकृत कंस्ट्रक्शन की वजह से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि मगर इसके लिए पूरी तरह से केंद्र सरकार को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। इस तरह की स्थिति पैदा होने के पीछे दिल्ली सरकार, डीडीए और म्युनिसिपल बॉडीज भी बराबर की जिम्मेदार हैं।

 

 

‘झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वालों को नहीं कर रहे परेशान’

बेंच ने कहा कि हम छोटे कारोबारियों के पीछे नहीं पड़े हैं और न ही हम झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले लोगों को परेशान कर रहे हैं। हम उन लोगों की तलाश में हैं, जो रेजिडेंशियल कॉलोनियों में फाइव-स्टार रेस्‍तरां और बड़े-बड़े शोरूम चला रहे हैं। ये लोग समस्या खड़ी कर रहे हैं, क्योंकि ये अवैध धंधा करते हैं और सुरक्षा नियमों समेत कोई भी नियम नहीं मानते हैं। हमने देखा है कमला मिल्स आग त्रासदी में क्या हुआ था…Next

 

Read More:

इन 5 जजों के खिलाफ भी लाया गया महाभियोग, कुछ को छोड़ना पड़ा पद

आयरन मैन से बाहुबली तक, इन 5 सुपरहीरोज को TV के कलाकारों ने दी हिंदी में आवाज

मायावती ने उपचुनावों में सपा से दूरी बनाकर चला बड़ा सियासी दांव!

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *