Menu
blogid : 316 postid : 1391207

बांग्‍लादेश की प्रधानमंत्री ने प्‍याज खाना क्‍यों बंद किया, जानिए गुस्‍से में सड़कों पर आए लोग सरकार से क्‍या मांग रहे

Rizwan Noor Khan

18 Nov, 2019

बांग्‍लादेश में इन दिनों बवाल मचा हुआ है। प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अपने भोजन में प्‍याज खाने से इनकार कर दिया है। यहां के लोग सरकार के खिलाफ गुस्‍से में सड़कों पर उतर आए। दरअसल, बांग्‍लादेश में प्‍याज के दामों में रिकॉर्ड स्‍तर पर उछाल आ गया है। प्‍याज की कमी के चलते जमाखोर मनमाने दाम में प्‍याज की बिक्री कर रहे हैं। 220 रुपये प्रति किलोग्राम मिल रही प्‍याज की कीमत से बौखलाए लोगों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। जनता के जबरदस्‍त प्रदर्शन को देखते हुए सरकार ने तत्‍काल प्‍याज के आयात के लिए नियमित पानी के जहाजों की बजाय हवाई जहाजों का इस्‍तेमाल शुरू कर दिया है।

 

 

 

 

 

 

प्‍याज की कीमतों में रिकॉर्ड उछाल
किसी भी तरह के भोजन को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए प्‍याज का प्रमुख रूप से इस्‍तेमाल किया जाता है। प्‍याज के बिना भोजन का मजा बराबर नहीं रहता है। इस वक्‍त बांग्‍लादेश में प्‍याज के दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने से त्राहि त्राहि मची हुई है। बांग्‍लादेश में आम दिनों में प्‍याज के 30 टका यानी 25 रुपये प्रति किलो के हिसाब से रहते हैं। लेकिन, अचानक प्‍याज की कीमतों में जबरदस्‍त उछाल आ गया है। इससे वर्तमान में प्‍याज के दाम 260 टका यानी 220 रुपये प्रति किलो हो गए हैं।

 

 

 

 

 

प्रधानमंत्री शेख हसीना ने प्‍याज खाना बंद किया
बांग्‍लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने देश में बढ़े प्‍याज के दामों पर चिंता जताई है। प्‍याज की कमी और महंगाई को देखते हुए उन्‍होंने अपने भोजन की लिस्‍ट से इसे हटा दिया है। प्रधानमंत्री के उप प्रेस सचिव हसन जाहिद के अनुसार देश में प्‍याज की कमी नहीं होने दी जाएगी। इसके बढ़े दामों को काबू में लाने के लिए पड़ोसी देशों से तत्‍काल विमान के जरिए प्‍याज आयात कराया जा रहा है।

 

 

Bangladesh में प्याज के दाम रिकार्ड ऊंचाई पर, खुद पीएम ने खाने में इस्तेमाल किया बंद

 

 

लोग सड़कों पर उतरे तो जागी सरकार
देश में प्‍याज की भारी किल्‍लत और महंगी हुई प्‍याज से नाराज विपक्ष और आम लोग सड़कों पर उतर आए हैं। जबरदस्‍त प्रदर्शन को देखते बांग्‍लादेश की सरकार ने मित्र देशों म्‍यांमार, मिस्र, तुर्की और चीन से प्‍याज के तत्‍काल आयात के लिए संपर्क किया है। सरकार के मुताबिक इन देशों से जल्‍द से जल्‍द प्‍याज लाने के लिए नियमित पानी के जहाजों की बजाय विमानों का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। सरकारी बयानों के मुताबिक एक दो दिन में प्‍याज की किल्‍लत को दूर कर दिया जाएगा। एक रिपोर्ट्स के मुताबिक दूसरे देशों से मंगाई गई प्‍याज से भरे जहाज चिटगांव के बंदरगाह पर रविवार को पहुंच गए हैं।

 

 

 

 

क्‍यों हुई प्‍याज की किल्‍लत
बांग्‍लादेश में खपत के मुताबिक प्‍याज का उत्‍पादन नहीं हो पाता है। इसके लिए वह भारत समेत कई देशों से प्‍याज का आयात करता है। भारत में बारिश के चलते खराब हुई प्‍याज की फसल से यहां भी प्‍याज की कीमतें अब तक के उच्‍चतम दामों पर पहुंच गई हैं। भारत में प्‍याज की कमी को देखते हुए बांग्‍लादेश के साथ आयात रोक दिया गया है। ऐसे में बांग्‍लादेश में प्‍याज की किल्‍लत शुरू हो गई और जमाखोरों ने प्‍याज के मनमान दाम बना लिए।…Next

 

Read More: समुद्र मंथन से निकले कल्‍प वृक्ष के आगे नतमस्‍तक हुई सरकार, इसलिए बदला गया वृक्ष काटने का फैसला

अंडरवियर से पहचाना गया दुनिया का सबसे खूंखार आतंकवादी, जमीन में छिपाए था अरबों रुपये का खजाना

सबसे बुजुर्ग नोबेल पुरस्‍कार विजेता बना अमेरिका का यह रसायन शास्‍त्री, सबसे युवा विजेता में पाकिस्‍तानी युवती का नाम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *