Menu
blogid : 316 postid : 1392211

कोरोना ठीक करने का झूठ पकड़ा तो अमेरिकी कंपनी बोली ‘गलती हो गई’

Rizwan Noor Khan

18 Mar, 2020

दुनियाभर के लिए मुसीबत बने कोरोना वायरस को ठीक करने के तरह तरह के दावे और तरीके सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे हैं। यह सभी दावे गलत और झूठे साबित हो रहे हैं। ऐसा ही एक अमेरिकी कंपनी का दावा भी झूठा निकला है। कंपनी ने सार्वजनिक तौर पर अपने दावे को लेकर माफी मांगी है।

 

 

 

 

8 हजार से ज्‍यादा मरे
विश्‍व के 170 से ज्‍यादा देशों के करीब दो लाख लोगों को अपनी चपेट में ले चुका कोरोना वायरस चिकित्‍सा जगत के लिए चुनौती बना हुआ है। चीन से शुरू हुए इस वायरस ने अब तक 8 हजार से ज्‍यादा लोगों की जान ले ली है। वर्तमान में इस वायरस ने सबसे ज्‍यादा इटली, ईरान और स्‍पेन में तबाही मचाई है।

 

 

 

 

अमेरिकी फार्मेसी कंपनी की किरकिरी
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इसके बारे में सोशल मीडिया पर गलत धारणाएं और इसे ठीक करने के फर्जी तरीके खूब शेयर किए जा रहे हैं। कई ऐसे मामले सामने भी आ चुके हैं जिनका बाद में खंडन भी किया गया है। इसी तरह अमेरिकी फार्मेसी कंपनी को भी अपने कर्मचारियों से अपनी भूल के लिए खेद जताना पड़ा।

 

 

 

 

कोरोना ठीक करने का झूठा दावा मेल किया
सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के महशूर हेल्‍थ ग्रुप कंपनी सीवीसी की फार्मा कंपनी सीवीसी फार्मेसी के कर्मचारियों को कोरोना वायरस से बचने और रोकथाम के लिए एडवाईजरी जारी की गई। कंपनी के मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी ट्रॉय ब्रेन्‍नान की ओर से सभी कर्मचारियों को की गई मेल में बताया कि गरम पानी पीने से कोरोना वायरस को खत्‍म किया जा सकता है।

 

 

 

 

पड़ताल में दावा फर्जी निकला
मेल में चिकित्‍साधिकारी ने बताया कि गरम पानी पेट में जाकर वायरस को मार देता है और यह पेशाब के रास्‍ते बाहर निकल जाता है। वायरस को खत्‍म करने का यह तरीका जब आम हुआ तो पड़ताल में यह फर्जी पाया गया। बायलर कॉलेज के मेडिसिन विभाग के डॉक्‍टर रॉबर्ट लेगार अटमार ने इस दावे को पूरी तरह वाहियात और फर्जी करार दिया।

 

 

 

 

कंपनी ने माफी मांगी
डॉक्‍टर रॉबर्ट लेगार अटमार ने कहा कि कोरोना वायरस नाक और मुंह के रास्‍ते शरीर में प्रवेश करता है और यह सबसे पहले श्‍वसन तंत्र को प्रभावित करता है। ऐसे में गरम पानी से पेट में कोरोना वायरस मरने का दावा पूरी तरह बेबुनियाद है। फजीहत होने के बाद सीवीसी फार्मेसी ने खेद जताते हुए गलती स्‍वीकार की और कहा कि उसके चिकित्‍साधिकारी ने भूलवश कर्मचारियों को गलत सुझाव शेयर कर दिया था।…NEXT

 

 

 

Read More:

अमेरिका ने बनाई कोरोना वायरस की वैक्‍सीन!

कोरोना का डर : कांग्रेस लीडर ने खुद को 14 दिन के लिए ‘बंद’ किया

अस्‍पताल से भागे कोरोना वायरस मरीज

मालिक से कुत्‍ते में पहुंचा कोरोना वायरस, जांच के रिजल्‍ट से खलबली मची

कोरोना वायरस से बचने के ये 3 सबसे आसान तरीके

कोरोना वायरस : हेल्‍पलाइन नंबर पर तकलीफ बताइये तुरंत आएगी मेडिकल टीम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *