Menu
blogid : 29156 postid : 4

प्रदूषण का आगमन

shivpmishra
shivpmishra
  • 2 Posts
  • 1 Comment

साल का वह समय या कहें की वह मौसम आ गया है, जब हम सभी को सबसे प्रदूषित वायु को शरीर में भरना होगा।

हाँ, सही समझा है आपने, क्योंकि यह प्रदूषित हवा दिल्ली में वह समस्या नहीं रह गई, जिसका समाधान निकाला जा सकता है। बल्कि, अब यह दिल्लीवासियों के जीवन की एक अटल प्रक्रिया बन चुकी है।
एक ‘मौसम’ के समान यह साल के एक निश्चित समय पर आती है और हमारे पास इसे झेलने के अलावा कोई और साधन नहीं होता, इस ‘मौसम’ के शुरू होने पर खूब शोर मचता है।
बड़े-बड़े लेख लिखे जाते है , ‘जागरूकता’ फैलाई जाती है , परंतु मौसम के अंत होने पर फिर वही ‘ढाक के तीन पात’। प्रशासन को तो क्या ही कहा जाए, वे तो हर वर्ष नई “योजनाएं” लेकर आती है। बस यह नहीं पता की यह योजनाएं सांसों को हल्का करने के लिए हैं या जनता की जेबें।
बहुत से  दिल्लीवासी इन जानलेवा साँसों के लिए प्रशासन को जिम्मेदार बताते हैं पर सब्जियां लाने के लिए  भी गाड़ियों का इस्तेमाल करते हैं ।
कागजों में बहुत कड़े नियम बनाए  गए हैं पर जमीनी स्तर पर कुछ दिखता नहीं ।
प्रदेशवासियों और प्रशासनिक व्यवस्थाओ के आचार और विचार में यह विरोधाभास ही इस समय हमें “स्वास्थ्य आपातकाल” की स्थिति में ले आया है ।
यही होता आया है और यही हो रहा है , इसीलिए ही तो आपको साल के इस “मौसम” के आगमन पर शुभकामनाएं देता हूँ ।
Tags:   

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *