Menu
blogid : 760 postid : 732

लड़कियों पर हमले से बचने के लिए 7 टिप्स

Jagran Sakhi

  • 208 Posts
  • 494 Comments

लडकियों के प्रति दिनोंदिन बढती जा रही हिंसक घटनाओं को देखते हुए उन्हें आत्मरक्षा की ट्रेनिंग देना जरूरी हो गया है। इसकी शुरुआत कई स्तरों पर हो रही है। स्कूलों, हाउसिंग सोसाइटीज, सार्वजनिक स्थलों पर स्त्रियों को ऐसे अचानक हमलों से बचने की ट्रेनिंग दी जाने लगी है। यहां दिए जा रहे हैं कुछ टिप्स, ताकि विपरीत स्थिति में लडकियां त्वरित निर्णय ले सकें और हमले से निपट सकें।


1. खुद पर भरोसा

खुद पर भरोसा जरूरी है। अगर किसी स्थान पर असुरक्षित महसूस कर रही हों या हमले का अंदेशा हो जाए तो पहले अपने डर और घबराहट पर काबू पाएं। जितनी जल्दी हो, किसी को मदद के लिए पुकारें। चीखें-चिल्लाएं या जो भी कर सकती हैं, वह करें।


2. डरें नहीं, डर पैदा करें

बस, मेट्रो या भीडभाड वाली जगह में कोई टच करे, प्राइवेट स्पेस में घुसने की चेष्टा करे या कोई ऐसी हरकत करे जिससे आप असहज हो जाएं तो उस व्यक्ति को उसकी सीमा बताने से हिचकें नहीं। उसे तुरंत दूर हटने को कहें। अपना ध्यान इधर-उधर करने के बजाय उससे डायरेक्ट आइ कॉन्टेक्ट करें और सख्ती से डांटें। नजरअंदाज करने पर उसे बढावा मिलेगा।

Read: सच में जिंदगी इम्तिहान लेती है !!


3. सुरक्षा के उपाय जरूरी

बाद में पछताने के बजाय पहले से सुरक्षा के उपाय करें। खुद को असुरक्षित महसूस कर रही हों, लग रहा हो कि कोई घूर रहा है तो अकेले चलने से बचें। सुनसान सडक पर किसी को साथ लें, खासतौर पर अगर रात का वक्त हो। अकेली हों तो सडक पर चलते अन्य लोगों के आसपास रहें। सतर्क रहें और सोचें किकिस रास्ते से भागना या कहां छिपना उचित रहेगा। कमेंट्स पडें तो जोर से चिल्लाएं ताकि दूसरे आपकी चीख सुन सकें और हमलावर कुछ पल को ठिठक जाए।


4. पर्स को बनाएं हथियार

लेडीज पर्स को विपरीत स्थिति में अपना हथियार बना सकती हैं। अचानक हमला होने पर तुरंत पर्स घुमा कर उसके चेहरे पर वार करें, ताकि वह गिर जाए। यदि लगे कि घिर चुकी हैं तो किसी भी तरह हमलावर को आगे बढने से रोकें। पर्स में रोजमर्रा इस्तेमाल होने वाली कई ऐसी चीजें होती हैं जो विपरीत स्थिति में सुरक्षा कर सकती हैं। ये हैं, पैन, हेयरक्लिप, कंघा, सेफ्टी पिंस। इसके अलावा अपनी हील्स और फिंगरनेल्स का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। एयर फ्रेशनर या परफ्यूम से भी हमलावर की आंखों में स्प्रे कर सकती हैं, लेकिन इनका प्रयोग करने से पहले निश्चिंत हो जाएं कि इससे सामने वाला हतोत्साहित हो और आपको बचने के लिए कुछ समय जरूर मिले। अटैक ऐसा हो कि हमलावर घबरा जाए। पहले अटैक करके आप अपराधी का मनोबल भी तोड सकती हैं।


5. वार करें कुछ ऐसे

हमलावर सामने की ओर से आ रहा हो तो उस पर सीधे वार करें। इस तरह कि उसकी आंखों या मुंह पर चोट लगे। उसके घुटनों या पैर के पंजों पर भी जोर का झटका दे सकती हैं ताकि वह गिर जाए। इसके अलावा उसके शरीर के सबसे नाजुक हिस्से (प्राइवेट पार्ट) पर वार करने से वह बेहोश तक हो सकता है। अगर वह पीछे से आ रहा हो तो अचानक पलट कर वार कर सकती हैं। ध्यान रखें कि यह मौका आपको एक ही बार मिल सकेगा। लिहाजा पूरा जोर लगाएं।


6. ड्रेस से भी मिलती है मदद

यदि आपने ट्राउजर, जींस या स्पो‌र्ट्स शू पहने हैं तो अधिक सहज होकर दौड सकती हैं। यदि बेल्ट पहनी हो तो उससे सामने वाले पर वार कर सकती हैं या फिर दुपट्टे से फंदा बना कर सामने वाले की गर्दन पर चोट पहुंचा सकती हैं।

Read:हमें कोई समझता क्यों नहीं ?


7. भागने के उपाय करें

एक बार हमलावर पर अटैक करने के बाद घटनास्थल पर खडी न रहें। उसे यह मौका न दें कि वह दोबारा उठकर आप पर वार करे। वहां से जितनी जल्दी हो भागने की कोशिश करें। ऐसी जगह जाएं जहां कुछ लोग खडे हों या फिर किसी सुरक्षित स्थान पर पहुंचें।

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *