Menu
blogid : 25721 postid : 1336356

कविता

रोहित सिंह काव्य

  • 98 Posts
  • 2 Comments

बारिशों में चल रहा हुँ मै अपने आँसू छुपाते हुए ,कही कोई अपना ना देखले मुझे आँसू बहाते हुए ||

===रोहित सिंह ===

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *