Menu
blogid : 19157 postid : 1178988

घर में रखी ये 4 चीजें छुटकारा दिला सकती है दुर्भाग्य से, मिलेगी सफलता

कभी-कभी ऐसा होता है कि बहुत मेहनत करने के बाद भी हमारे हाथ कुछ नहीं लगता यानि बदकिस्मती हम पर इस कदर हावी हो जाती है कि चाहे हम कितनी भी मेहनत कर लें कामयाबी हमसे कोसों दूर रहती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि घर में मौजूद चीजों के टोटके करने से आपका दुर्भाग्य सौभाग्य में बदल सकता है. आइए हम आपको बताते हैं ऐसे टोटकों के बारे में.



self


Read : आचार्य चाणक्य के इस भयंकर अपराध में छुपा है उनकी मृत्यु का रहस्य


नमक

दुनिया भर में बहुत-सी संस्कृतियों में नमक को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है. कई तरह के दुर्भाग्य से बचने के लिए एक चुटकी नमक लेकर अपने बाएं कंधे के ऊपर से फेंक दें. साथ ही विकल्प के तौर पर आप नमक के पानी से स्नान करके भी अपने शरीर को दुर्भाग्य से मुक्त कर सकते हैं. अपने नहाने के गर्म पानी में बस दो चम्मच नमक मिला लें.


आइना

अगर आपसे एक आइना टूट गया है तो कभी भी उसके टुकड़ों को फेंकना नहीं चाहिये. यह आपके सौभाग्य में बाधक बनेगा और आपको सात वर्षों की लम्बी अवधि तक दुर्भाग्य का सामना करना पड़ेगा.


Read : चाणक्य नीति : इस कारण से नहीं करना चाहिए सुंदर स्त्री से विवाह, जानें ऐसी 4 बातें


सुगन्धित धूपबत्ती

नकारात्मक ऊर्जा और दुर्भाग्य से बचने के लिए सुगन्धित धूप जलाना एक प्रभावी उपाय है. चन्दन या चमेली जैसी किसी तेज खुशबू का उपयोग करें और अगर आप एक से ज्यादा बत्तियां जला रहे हैंं तो सुनिश्चित करें कि आप सम संख्या की जगह विषम संख्या में ही बत्तियां जलायेंं.


कपूर

नकारात्मक ऊर्जा को समाप्त करने के लिये बहुत-सी संस्कृतियों में कई लोगों द्वारा वर्षों से कपूर जलाया जाता है. ऐसे कपूर जलाने की प्रक्रिया को स्मजिंग कहा जाता है. कपूर की बत्ती या सूखा कपूर खरीद लें और इसे जलाएं. इसे जलने की जगह धुआं छोड़ना चाहिए. जलते हुए कपूर का धुंआ सारे घर में फैलाने के लिए इसे लेकर सारे घर में घूमें…Next



Read more

ज्यादा ईमानदारी सफलता के लिए ठीक नहीं होती: चाणक्य नीति

अगर चाणक्य के इन 5 प्रश्नों का उत्तर है आपके पास तो सफलता चूमेगी आपके कदम

सफलता की बुलंदियों को यदि छूना है तो ध्यान दें महाभारत की इन 10 बातों पर

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *