Menu
blogid : 19157 postid : 1387612

घर में सुख-शांति लाती है होली की भस्म, होते हैं ये फायदे

होली के एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है फिर उसके बाद रंगों की होली खेली जाती है। ज्योतिष के अनुसार होली की रात में किए जाने वाले उपाय बहुत जल्द आपको परेशानियों से छुटकारा दिला सकते हैं। तंत्र शास्त्र के अनुसार होलिका की राख से बुरे समय से आजादी भी मिल जाती है।


cover


1. भस्म को घर में छिड़कें

होलिका दहन की भस्म को बहुत ही शुभ माना जाता है। इस भस्म को घर में लाकर हर कोने में छिड़कने से नकारात्मक ऊर्जा भाग जाती है। अगर किसी के ऊपर नकारात्मक ऊर्जा हावी है तो होलिका की भस्म को ताबीज में बांधकर पहनने से उसके ऊपर बुरी आत्माओं का साया नहीं रहता है। साथ ही टोने-टोटके का असर भी नहीं होता।

when_is_Holika-Dahan_in_2013


2. होली की राख को शिवलिंग पर चढ़ाएं

अगर किसी की कुंडली में ग्रह दोष है तो होली की राख को जल में मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ाना चाहिए। इस उपाय से ग्रह दोष समाप्त हो जाता है। शास्त्रों में होली की भस्म को काफी शुभ माना जाता है। होलिका की राख को माथे पर लगाने से अच्छा परिणाम मिलता है और नकारात्मक शाक्तियां दूर हो जाती है।

holi-1519199410-lb


3. होली का भस्म शुभ माना जाता है

इसके साथ ही ये मान्यताएं भी हैं कि, होली की भस्म शुभ होती है ऐसे में इसमें देवी देवताओं की कृपा बसती है। ऐसे में आप इसे अपने माथे पर लगा सकते हैं, ऐसा करने से भाग्य में उदय होता है साथ ही बुद्धि बढ़ती है।

holi-8


4. भस्म लेपन करने से चर्म रोग नहीं होता है

ऐसा माना जाता है कि अगर होलिका के भस्म में इतनी शक्ति होती है कि, भस्म में शरीर के अंदर स्थित दूषित द्रव्य सोख लेने की क्षमता होती है, इस कारण पर भस्म लेपन करने से कई तरह के चर्म रोग नहीं होते हैं।

holika-dahan_1458619583


5. घर में लाएं अग्नि और भस्म

अगर आपको घर के पास अगर होलिका दहन होता है तो आप बची हुई अग्नि और भस्म को अगले दिन अपने घर में ला सकते हैं। अग्नि और भस्म को अगले दिन सुबह घर लाने में घर को अशुभ शक्तियों से बचाने में सहयोग मिलता है।…Next



Read More:

क्यों चढ़ाया जाता है शिवलिंग पर दूध, समुद्र मंथन से जुड़ी इस रोचक कहानी में छुपा है रहस्य

अगर आपके घर में मंदिर है तो कभी न करें ये 5 गलतियां

मंदिर निर्माण से भी पहले इस भगवान की होती थी पूजा, खुदाई में मिले प्रमाण

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *