Menu
blogid : 19157 postid : 1388152

चाणक्य नीति : इन 5 विशेषताओं वाले लोगों के कदम जरूर चूमती है सफलता, क्या आप में भी हैं ये खास बातें

Pratima Jaiswal

20 Jun, 2019

कहते हैं कि सफलता और असफलता के बीच एक ऐसा बिंदु होता है, जब आप ना बहुत ज्यादा सफल हो पाते हैं और न ही असफल। दुनिया में हर इंसान सफल होना चाहता है लेकिन हम में से काफी लोग ऐसे हैं, जो ये नहीं सोचते कि असफल होने का कारण हम में ही होते हैं। चाणक्य ने चाणक्य नीति में ऐसी कई बातें बताई हैं, जिनपर अमल करके व्यक्ति असफलता से दूर रह सकता है।

 

chanakya niti

 

खुलापन

खुलेपन का अर्थ है कि व्यक्ति को हमेशा अपने कान, आंखें और दिमाग खुला रखना चाहिए, जो व्यक्ति हमेशा अपने आसपास हो रही घटनाओं के प्रति सचेत रहता है वो कभी असफल नहीं हो सकता।

 

 ज्ञान

आचार्य चाणक्य कहते हैं ज्ञान का अर्थ है विषयों की जानकारी यानि किताबी शिक्षा को ज्ञान नहीं कहा जा सकता। अच्छे-बुरे की पहचान करके जीवन के प्रति सकरात्मक रवैया रखने वाला व्यक्ति जीवन में कभी नाकामयाब नहीं हो सकता।

 

enlightenment 1

 

 

संचित धन

धन के विषय में चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति को कभी भी सारा धन व्यय नहीं करना चाहिए, किसी भी इंसान का बुरा वक्त आ सकता है इसलिए बुरे समय के लिए हमेशा कुछ धन हमेशा संचित करके रखना चाहिए। जिससे कि किसी से मांगना नहीं पड़े।

 

 

marriage

 

 आत्मविश्वास

दूसरे लोग तभी आप पर भरोसा करेंगे, जब आप खुद पर भरोसा करेंगे। जो व्यक्ति आत्मविश्वास के साथ जीता है, उसके लिए हर बुरी से बुरी परिस्थिति भी सामान्य रहती है. ऐसे लोग कभी असफल नहीं होते।

 

 मेहनती

कभी-कभी जीवन में ऐसा वक्त भी आता है, जब आपकी मेहनत की अपेक्षा आपको बहुत कम फल मिलता है लेकिन चाणक्य कहते हैं कि मेहनत कुछ देर के लिए अनदेखी की जा सकती है लेकिन मेहनत का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। …Next

 

Read more:

नागपंचमी विशेष : इस वजह से मनाई जाती है नागपंचमी, ऐसे हुई थी नागों की उत्पत्ति

कामेश्वर धाम जहां शिव के तीसरे नेत्र से भस्म हो गए थे कामदेव

भगवान शिव को क्यों चढ़ाया जाता है दूध, शिवपुराण में लिखी है ये कहानी

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *