Menu
blogid : 19157 postid : 1326795

विष्णुपुराण : जीवन में हमेशा मिलेगी कामयाबी, अगर रात के समय नहीं करेंगे ये 3 काम

माना जाता है कि रात के समय कोई भी शुभ काम नहीं करना चाहिए. शास्त्रों में इसका कारण माना जाता है कि रात में अंधेरा होता है, जिसके कारण नकारात्मकता दूर-दूर तक फैली होती है.


vishnupuran 2

इसी कारण से कुछ कामों को रात में करना वर्जित माना जाता है. विष्णुपुराण में ऐसे कई काम बताए गए हैं जिन्हें रात के समय नहीं करना चाहिए. रात के समय इन कामों को करने से दुर्भाग्य आपके गले पड़ सकता है. आइए, जानते हैं उन कामों के बारे में.


चौराहों पर नहीं जाना चाहिए

किसी भी व्यक्ति को रात के समय चौराहे से दूर ही रहना चाहिए. रात के समय अक्सर चौराहों पर असामाजिक तत्वों की उपस्थिति रहती है. ऐसे में यदि कोई सज्जन व्यक्ति चौराहे पर जाएगा तो उसे परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. वहीं विष्णुपुराण में बताया गया है कि रात के समय व्यक्ति में नकारात्मकता हावी रहती है. वो छोटी-छोटी बातों पर बहस करने के लिए उतारू हो जाता है, इस वजह से किसी भी व्यक्ति के लिए परेशानी हो सकती है.


ground


श्मशान के आसपास नहीं जाना चाहिए

रात के समय श्मशान के आसपास जाना भी नहीं चाहिए. श्मशान क्षेत्र में सदैव नकारात्मक ऊर्जा सक्रिय रहती है. इसका बुरा असर हमारे मन और मस्तिष्क पर पड़ सकता है, साथ ही श्मशान क्षेत्र में जलते हुए शवों से निकलने वाला धुआं भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक रहता है. उस क्षेत्र के वातावरण में कई सूक्ष्म कीटाणु भी रहते हैं, जो स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकते हैं, इसीलिए श्मशान जाने के बाद स्नान करना जरूरी बताया गया है. रात के समय में स्नान करना भी स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है. इन्हीं कारणों के चलते रात के समय श्मशान के आसपास नहीं जाना चाहिए.


night


बुरे चरित्र वाले व्यक्ति से दूर रहना चाहिए

विष्णुपुराण में कहा गया है कि कुछ लोग ऐसे होते हैं जो दिन के समय बेशक अपनी छवि बनाए रखने के लिए सतकर्म करें, लेकिन रात होते ही उनके मन में छुपी बुरी इच्छाएं सक्रिय हो उठती है, इसलिए बुरे चरित्र वाले व्यक्ति के साथ हमेशा ही दूरी बनाई रखनी चाहिए, खासकर रात के समय.

जो व्यक्ति रात के समय इन कामों से परहेज करता है, वो किसी मुसीबत में नहीं पड़ता और उसके जीवन में दौलत, शोहरत और प्यार किसी चीज की कमी नहीं रहती…Next


Read More :

ऐसे मिला था श्रीकृष्ण को सुदर्शन चक्र, इस देवता ने किया था इसका निर्माण

भागवतपुराण : इस कारण से श्रीकृष्ण से नहीं मिल पाए थे शिव, करनी पड़ी 12,000 साल तक तपस्या

गांधारी के शाप के बाद जानें कैसे हुई भगवान श्रीकृष्ण की मृत्यु

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *