Menu
blogid : 19157 postid : 1370883

पवनपुत्र हनुमान को क्यों लगाया जाता है सिंदूर, जानें उनके बारे में 5 रोचक बातें

हिंदू धर्म में हनुमान जी एकमात्र ऐसे देवता है जो शीघ्र अपने भक्‍तों की मनोकामना पूर्ण करते हैं। उनकी पूजा से भक्‍तों को शक्‍ति और साहस की प्राप्‍ति होती है। हनुमान जी को भगवान राम का सबसे बड़ा भक्त माना गया है। ऐसे में क्या आप जानत हैं कि हनुमान जी अपने पूरे शरीर पर सिंदूर क्यों लगता हैं, साथ ही उनसे जुड़ी कुछ और खास बातें।


cover


भगवान शिव के अवतार हैं हनुमान जी

शिव का अवतार राजा दशरथ ने पुत्र की प्राप्‍ति के लिए हवन का आयोजन किया था जहां ब्राह्मणों ने उन्‍हें अपनी सभी पत्‍नियों को खीर खिलाने के लिए दी थी। उनकी पहली पत्‍नी कौशल्‍या के पात्र की थोड़ी सी खीर एक पक्षी लेकर उड़ गया और ध्‍यान में लीन अंजना के पास पहुंचा। वायु व पवन देव ने इसे भगवान शिव का प्रसाद कहकर अंजना के हाथ में रख दिया। भगवान शिव का प्रसाद समझकर अंजना इसका सेवन कर लेती है और इस तरह भगवान शिव के अवतार हनुमान जी का जन्‍म होता है।


hanuman



भगवान राम के लिए हनुमान जी लगाते थे सिंदूर

हनुमान जी, भगवान राम के परम भक्‍त हैं और माता सीता को सिंदूर लगाते देख हनुमान जी ने उनसे इसका कारण पूछा। तब सीता माता ने बताया कि वो भगवान राम की दीर्घायु के लिए सिंदूर लगाती हैं। ये सुनकर हनुमान जी ने अपने पूरे शरीर पर ही सिंदूर लगा लिया।


hanuman1


हनुमान जी का मकरध्‍वज नामक पुत्र

मकरध्‍वज का जन्‍म ब्रह्मचारी होने के बाद भी हनुमान जी का मकरध्‍वज नामक पुत्र है जिसका जन्‍म मछली से हुआ था। लंका दहन के बाद हनुमान जी की पूंछ में आग लगी थी। जिसे बुझाने के लिए वो समुद्र में कुछ देर बैठ गए। तब उनके पसीने की एक बूंद उस समुद्र के मछली के पेट में चला गया। इस तरह मछली के पेट से मकरध्‍वज का जन्‍म हुआ।

-hanuman


हनुमान जी ने भी लिखी थी रामायण

हनुमान जी ने भी लिखी थी रामायण लंका युद्ध के बाद भगवान राम की सेवा के लिए हनुमान जी हिमालय पर चले गए। यहां पर उन्‍होंने हिमालय के पर्वत की दीवारों पर स्‍वयं की रामायण लिखी थी।


hanuman-3


हनुमान जी के हैं 108 नाम

संस्‍कृत भाषा में हनुमान जी के 108 नाम हैं। उनमें से कुछ मारुति, अंजनेय, बजरंग बली, दीनबंधवे, कलनभा, महादूत, रामभक्‍त, सर्वग्रह, वागमिने और योगिनी आदि हैं।…Next


Read More :

आपके घर में है ‘मनीप्लांट’ तो भूल से भी न करें ये गलतियां

समुद्र शास्त्र: अगर इस उंगली पर है तिल मिलता है प्यार, दौलत और शोहरत

गरूड़पुराण : पति से प्रेम करने वाली स्त्रियां भूल से भी न करें ये 4 काम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *