Menu
blogid : 7054 postid : 1335837

जीडीपी गिरी है……

मन की बात

  • 48 Posts
  • 94 Comments

जीडीपी गिरकर माइनस 23.9 तक पहुंच गई है। गनीमत है यह पहले ही काफी नीचे गिर चुकी थी, लिहाजा अधिक चोट नहीं लगी। सोचिए ऊंचाई से गिरती तो कितनी चोट लगती। याद किजिए एक बार वित्त मंत्री ने महंगी प्याज के सवाल पर कहा था कि वह प्याज नहीं खाती। इस बार भी कुछ ऐसा कहा जा सकता है। यह भी संभव है कि गिरती हुई जीडीपी के फायदे गिना दिए जाएं, अथवा इसमें भी कोई मास्टर स्ट्रोक निकाल लिया जाए।

कुछ लोग मानइस 23.9 को जोड घटाकर 56 भी निकाल सकते हैं। इन सबके बीच वह गरीबी की दलदल में गिरे वह लाखों परिवार और अपनी नौकरी, रोजगार गवां चुके करोडों लोग चाहे तो छत पर खडे होकर थाली घडियाल कुछ बजा सकते हैं। अपनी छोटी मोटी बचत गंवाकर लोग कर्ज के जाल में फंस चुके हैं। हाल फिलहाल उम्मीद न किजिए कि वह इससे बाहर निकल सकेंगे।

बेरोजगारों की तादाद खतरनाक स्तर तक बढ चुकी है। लोगों के पास रोजगार नहीं है। असंगठित क्षेत्र में जो नौकरी कर रहे हैं वह भी भविष्य को लेकर आशंकित हैं अथवा चुपचाप आधी या बिना सैलरी के कार्य कर अपनी नौकरी बचाने को प्रयासरत हैं। अनिश्चतता के इस माहौल में गरीब से लेकर मिडिल क्लास तक किसी को कुछ सूझ नहीं रहा है।

आर्थिक संकट में मंदी और अनिश्चितता के बीच लोग केवल दाल रोटी अथवा दूसरी बहुत आवश्यक वस्तुओं मात्र की खरीदकर किसी प्रकार इस खराब दौर को गुजर जाने की दुआ मांग रहें हैं। अब यह मत कहिएगा कि दूसरे देश भी आर्थिक संकट से जूझ रहें हैं। भारत में कोरोना संक्रमण से पहले ही आर्थिक मंदी का असर दिखने लगा था। कोरोना संक्रमण से पहले ही बेरोजगारी दर चरम पर पहुंच गई थी।

बाजार में मांग नहीं होने की सूरत में कंपनिया कर्ज लेकर उत्पादन बढाएं भी तो इसका कोई खास फर्क नहीं पडने वाला है। बहरहाल संकट के इस दौर में भी आप मुस्कुराने की वजह तलाश सकते है आप आत्मनिर्भर हो सकते हैं। आप खिलौने बना सकते हैं अथवा देशी नस्ल के कुत्ते पाल सकते हैं। खुद को व्यस्त रखने के लिए आप किसी अभिनेता की मौत के कारणों की चौबीसों घंटों की पडताल का हिस्सा बन सकते हैं अथवा किसी पडोसी देश की बर्बादी का जश्न मना सकते हैं।

 

डिस्क्लेमर: उपरोक्त विचारों के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी हैं। जागरण डॉट कॉम किसी भी दावे या आंकड़े की पुष्टि नहीं करता है।

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply