Menu
blogid : 18911 postid : 762205

नई उम्मीदों का रेल बजट

chalti zindgi
chalti zindgi
  • 8 Posts
  • 1 Comment

नई उम्मीदों का रेल बजट
राजग सरकार के पहले रेल बजट में रेलमंत्री सदानंद गौड़ा ने यात्री सुविधाओं में सुधार के लिए एफडीआई और निजी क्षेत्र की सहभागिता पर जोर दिया है। रेलवे में सुविधाओं के सुधार की दिशा में यह एक अच्छा फैंसला साबित हो सकता है बशर्ते सरकार को एक निगरानी तंत्र की व्यवस्था करनी होगी। बिना सक्षम निगरानी तंत्र के किसी भी व्यवस्था के सफल होने की उम्मीद करना बेमानी होगी।
रेलमंत्री ने रेलवे स्टेशनों पर मिलने वाले खाने की गुणवत्ता सुधार करने के लिए ब्रंाडेड कम्पनियों के पैकेट बंद खाने को उपलब्ध करने का प्रस्ताव किया है, साथ ही इस खाने की तीसरे पक्ष द्वारा जांच भी करायी जायेगी। इस व्यवस्था से रेल यात्रियों को सफर के दौरान बढि़या खाना खाने को मिल सकेगा। यात्री सफर के दौरान एसएमएस या ई मेल के जरिए खाने की बुकिंग करा सकेंगे।
रेलवे स्टेशनों के टिकट कांउटरों पर भीड़ के दबाव को कम करने के लिए अब सामान्य श्रेणी के टिकटों को भी आनलाइन बुक कराया जा सकेगा। रेलमंत्री ने इस बात का ऐलान भी रेलबजट में किया है। इसके साथ ही आनलाइन प्लेटफार्म टिकट भी खरीदे जा सकेंगे।
मोदी के वादे बुलेट ट्रेन को भी इस रेल बजट में शामिल कर लिया गया है। इसके लिए सबसे पहले प्रधानमंत्री के गृहनगर अहमदाबाद से देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को जोड़ने वाली बुलेट ट्रेन चलाने की बात कही गई है।
कुल मिलाकर रेलबजट में सिर्फ वादे करने से बचा गया है। अब जरूरत इस बात की है पहले से लंबित परियोजनाओं पर ध्यान केंद्रित करते हुए उन्हें प्राथमिकता के साथ पूरा किया जाये।

Tags:   

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *