Menu
blogid : 12847 postid : 1032220

ना मेरी ना आपकी इनकी है सरकार

कटाक्ष

कटाक्ष

  • 82 Posts
  • 42 Comments

68 साल पहले जब अग्रेंजो ने 200 साल शासन करने के बाद भारत को छोड़ा था तब वह अपनी हथियाई हुई सत्ता को भारत की जनता के हवाले कर गए थे. भारत में लोकतांत्रिक व्यवस्था होने की वजह से कहने को तो आजादी के बाद से ही यहां जनता का शासन है लेकिन समय-समय पर इस देश राजनेताओं ने अपने स्वार्थ के लिए इसे गरीबों, किसानों, पूंजीपतियों, समाजवादियों आदि का शासन कहकर खूब हो-हल्ला मचाया.


pics


देश की जनता को आजकल नए तरह का शासन देखने-सुनने को मिल रहा है. “सूट-बूट बनाम कुर्ता पयजामा की सरकार”. हाल ही में गांधी परिवार के चिराग राहुल गांधी ने इसे इस तरह से व्याख्या किया कि ‘सूट-बूट की सरकार पूंजीपतियों की सरकार है जबकि कुर्ता पयजामा की सरकार आम लोगों की सरकार’ है. राहुल के हिसाब से अगर ऐसा है तो आइए जानते हैं नेताओं और क्षेत्रों के हिसाब से किस पार्टी पर कौन सी सरकार जायज मानी जाएगी.


सूट-बूट की सरकार

यह बात तब सामने आई जब इसी साल जनवरी महीने में अमरीका के राष्ट्रपति भारत के दौरे पर थे. तब ओबामा से मुलाकात के दौरान नरेंद्र मोदी ने अपने ही नेमप्रिंट वाला सूट पहना था. तभी से संसद से लेकर सड़क तक राहुल गांधी सूट-बूट की सरकार कहकर केंद्र पर निशाना साधते रहे हैं.


modi



Read:  योग दिवस पर योग करते हुए सो गये मोदी के ये मंत्री, जगाया सहयोगी ने


कुर्ता-पयजामा की सरकार

पिछले कई महीनों से मोदी की सरकार को सूट-बूट की सरकार का लेबल चिपकाने वाले राहुल गांधी ने अपनी पार्टी (कांग्रेस पार्टी) का भी नामकरण कर दिया. उनके मुताबिक उनकी पार्टी कुर्ता-पायजामा वाली पार्टी है जो शासन में आने के बाद ‘आम आदमी’ के लिए काम करेगी.



kurta pajama



मफलर की सरकार

लेकिन ‘आम आदमी’ पर अगर किसी पार्टी का पेटेंट है तो दिल्ली में शासन करने वाली आम आदमी पार्टी है जिसके नेता अरविंद केजरीवाल को आम आदमी का सबसे बड़ा सिंबल होने का दर्जा प्राप्त है. यह दर्जा खुद केजरीवाल के चाटुकारों ने उन्हें दिया है.




kejriwal



लुंगी की सरकार

अब जहां लुंगी की चर्चा हो वहां जरूरी नहीं है कि शाहरुख अपनी अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के साथ यो-यो हनी सिंह की धुन पर लुंगी डांस, लुगी डांस करने लगे. इस पर तो 2011 से सत्ता से बाहर रहने वाली डीएमके का अधिकार है जिसे आजकल एआईडीएमके नचा रही है.



Karunanidhi



धोती की सरकार

धोती पहनकर राजनीति करने वाली लेफ्ट पार्टी के आजकल तोते उड़े हुए हैं. कांग्रेस की तरह इनकी भी स्थिति दयनीय हो चुकी है. लगातार 23 वर्षों तक धोती पहनकर पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहने वाले मार्क्सवादी नेता ज्योति बसु के बाद ऐसा कोई नेता नहीं बचा जो इस पार्टी के अच्छे दिन ले आए….Next



jyoti  10


Read more:

मोदी के स्वच्छ अभियान में दुर्गंध फैला सकते हैं ये!

कसम मोदी-शाह की दोस्ती की! अब पत्नी या प्रेमिका को हत्यारिन कहना पड़ सकता है महँगा

इन सारी चीज़ों का जवाब गूगल को भी नहीं पता



Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *