Menu
blogid : 321 postid : 1390943

तेजप्रताप यादव पत्‍नी ऐश्‍वर्या को हर महीने देंगे 22 हजार रुपये, कोर्ट ने बिहार के पूर्व मंत्री को दिया आदेश

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव और उनकी पत्‍नी के बीच चल रहे विवाद की सुनवाई में फैमिली कोर्ट ने अहम फैसला सुनाया है। कोर्ट ने तेजप्रताप यादव को अपनी पत्‍नी को गुजारा भत्‍त्ता देने का आदेश दिया है। बता दें कि दोनों के बीच लंबे समय से अनबल चल रही है और मुकदमा कोर्ट में है।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 25 Dec, 2019

 

 

 

 

 

 

शादी के कुछ महीने बाद ही विवाद
बिहार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रह चुके तेज प्रताप यादव राज्‍य के बड़े राजनीतिक चेहरे के तौर पर पहचान रखते हैं। 2018 में ऐश्‍वर्या राय और तेज प्रताप की शादी धूमधाम से संपन्‍न कराई गई थी। विवाह के कुछ महीने बाद ही दोनों के बीच विवाद हो गया जो कोर्ट तक पहुंच गया। ऐश्‍वर्या ने सास राबड़ी देवी, समेत कई लोगों पर घरेलू हिंसा के आरोप लगाए हैं। वहीं, तेज प्रताप यादव की मां की ओर से भी ऐश्‍वर्या पर आरोप लगाए गए हैं।

 

 

 

ऐश्‍वर्या ने कोर्ट में मुकदमा दर्ज कराया
विवाद के बाद ऐश्‍वर्या ने भरण पोषण संबंधी याचिका 13 नवंबर 2019 को पटना के फैमिली कोर्ट में दायर की थी। सुनवाई के दौरान 17 दिसंबर को ऐश्‍वर्या ने कोर्ट को बताया कि उन्‍हें ससुरालियों ने घर से निकाल दिया है। ऐसे में उनके पास रहने के लिए और भरण पोषण के लिए पैसे नहीं है। इस बात की पुष्टि बिहार पुलिस की महिला हेल्‍पलाइन ने कोर्ट में की है। कोर्ट में ऐश्‍वर्या ने बताया कि तेज प्रताप उनके साथ न रहकर अलग रहते हैं।

 

 

Image result for Tej Pratap and Aishwarya

 

 

 

फैमिली कोर्ट ने फैसला सुनाया
सुनवाई के बाद कोर्ट ने तेज प्रताप यादव पर शिकंजा कसते हुए अपना फैसला सुना दिया है। पटना फैमिली कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि तेज प्रताप पत्‍नी ऐश्‍वर्या के साथ नहीं रहते हैं। ऐसे में उनके रहने, खाने और मुकदमा लड़ने का खर्च वहन करना होगा। आदेश में कहा कि तेज प्रताप यादव ऐश्‍वर्या को प्रति महीने उनके रहने और खाने के लिए 22 हजार रुपये देंगे। इसके अलावा चल मुकदमे के खर्च का पैसा भी वह ऐश्‍वर्या को देने के साथ दो लाख रुपये अन्‍य देंगे।…NEXT

 

 

Read More :

बीजेपी में शामिल हुई ईशा कोप्पिकर, राजनीति में ये अभिनेत्रियां भी ले चुकी हैं एंट्री

यूपी कांग्रेस ऑफिस के लिए प्रियंका को मिल सकता है इंदिरा गांधी का कमरा, फिलहाल राज बब्बर कर रहे हैं इस्तेमाल

इस भाषण से प्रभावित होकर मायावती से मिलने उनके घर पहुंच गए थे कांशीराम, तब स्कूल में टीचर थीं बसपा सुप्रीमो

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *