Menu
blogid : 321 postid : 704

[R. Sharathkumar] अभिनय, राजनीति व पत्रकारिता का संगम – शरतकुमार रामनाथन

ramanathan sharathkumarशरतकुमार रामनाथन का जीवन परिचय

तमिल फिल्मों के लोकप्रिय अभिनेता आर. शरतकुमार ना सिर्फ पत्रकार के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं बल्कि दक्षिण भारतीय राजनीति में भी अपने लिए एक सुनिश्चित स्थान ग्रहण किए हुए हैं. 14 जुलाई, 1954 को नई दिल्ली में जन्में आर. शरतकुमार का वास्तविक नाम शरतकुमार रामनाथन है. शरतकुमार ने चेन्नई के द न्यू कॉलेज से बीएससी (गणित) की उपाधि ग्रहण की. आर. शरतकुमार ने दो विवाह किए हैं. इनकी पहली पत्नी छाया हैं. शरतकुमार और छाया की दो बेटियां (वरलक्ष्मी और पूजा) हैं. सह-अभिनेत्रियों के साथ संबंध होने के कारण इनका अपनी पहली पत्नी छाया से तलाक हो गया था. तलाक लेने के बाद शरतकुमार ने वर्ष 2001 में राधिका नामक युवती से विवाह किया. शरतकुमार और राधिका का एक पुत्र है.


अभिनय के क्षेत्र में आर. शरतकुमार

शरतकुमार ने अपने फिल्मी कॅरियर की शुरूआत तमिल सिनेमा में नकारात्मक भूमिकाओं से की. इसके अलावा प्रारंभ में उन्होंने कई फिल्मों में छोटी-छोटी भूमिकाएं निभाईं. सुरियां फिल्म में पहली बार शरतकुमार मुख्य भूमिका में आए. शरतकुमार ने तमिल, तेलुगू, मलयाली और कन्नड़ फिल्मों में अभिनय किया है. चेरन पंडियां, नत्तामई, पजहस्सी राजा आदि शरतकुमार की मुख्य फिल्में हैं.


आर. शरतकुमार का राजनैतिक सफर

वर्ष 1996 में द्रविड मुनेत्र कड़गम जैसी प्रतिष्ठित क्षेत्रीय राजनैतिक दल की सदस्यता के साथ शरतकुमार ने राजनीति में प्रवेश किया. 1998 में डीएमके के टिकट पर शरतकुमार ने तिरूनेवेली निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ा. लेकिन इस चुनाव में शरतकुमार विजयी नहीं हो पाए. 2002 में डीएमके ने शरतकुमार को राज्यसभा का सदस्य बनाया. तत्कालीन मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि के परिवारवालों के साथ मनमुटाव होने के कारण 2006 विधानसभा चुनावों से पहले ही शरतकुमार ने डीएमके की सदस्यता त्याग दी. कुछ ही समय में आर. शरतकुमार ने अपनी पत्नी राधिका के साथ अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम की सदस्यता ग्रहण कर ली और आगामी चुनावों के लिए भरपूर प्रचार किया. अक्टूबर 2006 में राधिका को पार्टी से निकाल दिया गया, जिसके पश्चात नवंबर 2006 में शरतकुमार ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया. 31 अगस्त, 2007 को शरतकुमार ने अखिल इंडिया समुत्व मक्कल कत्ची का निर्माण किया. शरतकुमार का कहना है कि उनकी पार्टी के. कामराज के आदर्शों पर कार्य करती है.


वर्ष 2011 में आर. शरतकुमार ने अखिल भारतीय अन्ना द्रविड मुनेत्र कड़गम के साथ गठबंधन किया. 2011 में हुए चुनावों में दो सीटों पर शरतकुमार की पार्टी ने चुनाव लड़ा जिनमें से एक सीट पर शरतकुमार टेंकसी निर्वाचन क्षेत्र से जीते.


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *