Menu
blogid : 321 postid : 1390738

जनसभा सम्बोधन के बीच बैरिकेड्स से कूदकर जनता के पास पहुंची प्रियंका गांधी, देखें वीडियो

Pratima Jaiswal

14 May, 2019

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा इन दिनों चुनाव प्रचार में लगी हुई हैं। कांग्रेस में एक बार फिर से नया जोश भरने के लिए प्रियंका को राजनीति में उतारा गया है। प्रियंका कांग्रेस की नैय्या को पार लगा पाती हैं या नहीं, ये तो 23 मई को चुनावी नतीजों को देखने के बाद ही साफ हो सकेगा बहरहाल, प्रियंका गांधी ने सोमवार को मध्य प्रदेश के कई शहरों में रैलियां की। वहीं, रतलाम में जनसभा को संबोधित करते हुए उनका एक नया रूप देखने को मिला। रैली में संबोधन करने के बाद प्रियंका मंच से उतर गईं और फिर जनता से मिलने के लिए करीब 3 से साढ़े तीन फिट ऊंची बैरिकेट्स पर चढ़कर दूसरे ओर पार कर लिया। इस वीडियो के बारे में खूब चर्चा हो रही है।

 

 

जारी है आरोप-प्रत्यारोप का दौर
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को इंदौर और उज्जैन में रोड शो किया और रतलाम में सभा की। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि वो खुद को तपस्वी कहते हैं, लेकिन वो उद्योगपतियों के लिए जप कर रहे हैं। लोकतंत्र में सबसे शक्तिशाली जनता है, लेकिन मोदी जनता की बात नहीं सुनते हैं।

 

वोट करने के बाद ट्रोल हो गए थे रॉबर्ट वाड्रा
कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा रविवार को दिल्ली में मतदान करने के बाद स्याही लगी अपनी उंगली के साथ गलती से पराग्वे के झंडे वाली ‘इमोजी’ पोस्ट कर दी थी। इसे लेकर उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल भी किया गया। हालांकि उन्होंने बाद में पराग्वे के झंडे की जगह भारतीय तिरंगा पोस्ट किया और अपनी गलती कबूल की, लेकिन जब तक वह अपनी गलती को सुधारते तब तक वह ट्विटर पर ट्रोल किए जा चुके थे।
वहीं, प्रियंका-रॉबर्ट के बेटे ने 18 साल का होने पर भी पहली बार वोट नहीं किया, जब प्रियंका से इस बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि रेहान अभी लंदन में हैं इसलिए वोट नहीं कर पाए।…Next

Read More :

दिल्ली से जुड़ा है देश की कुर्सी का 21 सालों का दिलचस्प संयोग, जानें अब तक कैसे रहे हैं आंकड़े

यूपी कांग्रेस ऑफिस के लिए प्रियंका को मिल सकता है इंदिरा गांधी का कमरा, फिलहाल राज बब्बर कर रहे हैं इस्तेमाल

इस भाषण से प्रभावित होकर मायावती से मिलने उनके घर पहुंच गए थे कांशीराम, तब स्कूल में टीचर थीं बसपा सुप्रीमो

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *