Menu
blogid : 321 postid : 1385264

‘मोदी केयर’ पर केंद्र ने राज्यों की बुलाई बैठक, इस सीएम ने पहले ही किया किनारा

2018-2019 के बजट में वित्त मंत्री और केंद्र सरकार ने अपनी महत्वाकांक्षी योजना ‘मोदी केयर’ को लेकर आज बैठक बुलाई है। ‘मोदी केयर’ के नाम से प्रचलित नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम के तहत 10 करोड़ परिवारों को यानी करीब 50 करोड़ लोगों को हर साल 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराने का लक्ष्य है, लेकिन अभी तक यह फैसला नहीं हो पाया है योजना को कैसे लागू किया जाएगा।


cover


दो दिन चलेगी बैठक

केंद्र सरकार ने बृहस्पतिवार को सभी राज्यों के स्वास्थ्य सचिवों की बैठक बुलाई है। इस बैठक में स्वास्थ्य योजना को लागू करने के तौर-तरीकों पर माथापच्ची होगी। दो दिवसीय बैठक में केंद्र सरकार और नीति आयोग के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।


75635-oyogyavkyt-1517366529


ममता बनर्जी नहीं होगी बैठक का हिस्सा

योजना को लेकर कुछ राज्य सरकारों ने पल्ला भी झाड़ लिया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने साफ कर दिया है कि वह ‘आयुष्मान भारत’ कार्यक्रम को अपने राज्य में लागू नहीं करेंगीं। उनकी दलील है कि उन्हें ये पैसे की बर्बादी लगता है और पहले से ही राज्य सरकार की तरफ से पश्चिम बंगाल में एक स्वास्थ्य बीमा योजना चल रही है।

657539-hospital970


कई राज्यों में चल रही है योजनाएं

इस योजना को लेकर केंद्र और राज्यों के सरकारों के बीच तनाव हो सकता है। दरअसल कई राज्यों में ऐसी योजना पहले से चल रही है, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक और तेंलगाना में भी कुछ स्वास्थ्य योजनाएं चल रही हैं। ऐसे में इस पर सस्पेंस बना हुआ है कि क्या यह राज्य, केंद्र सरकार की योजना को अपने यहां लागू करेंगे।


80812-jasvclwjxj-1517496922


आम चुनाव से पहले लॉन्च करने की तैयारी

स्वास्थ्य बीमा योजना लागू करने के लिए प्रीमियम देने का मॉडल क्या हो इस बात को लेकर भी अभी विचार-विमर्श चल रहा है. कुछ राज्यों ने स्वास्थ्य बीमा के लिए ट्रस्ट बना रखा है जबकि कुछ जगहों पर बीमा कंपनियां प्रीमियम के बदले यह सुविधा मुहैया कराती हैं। वहीं सरकार इसे इसी साल 2 अक्टूबर या फिर 15 अगस्त तक लॉन्च करेगी।


arun-jaitley-budget-2018-pti_650x400_61517480647


ये है पूरी योजना

इस योजना के माध्यम से 50 करोड़ लोगों को हर साल 5 लाख रुपये तक का बीमा उपलब्ध कराने की योजना है। योजना के लिए सरकार ने दो हजार करोड़ रुपये का आवंटन किया है। केंद्र की सरकार चाहती है कि प्रदेश सरकारें इस योजना में 40 प्रतिशत हिस्सा वहन करें, जबकि 60 फीसदी खर्च केंद्र सरकार उठाने के लिए तैयार है।…Next


Read More:

चुनाव प्रचार के लिए बढ़ी सीएम योगी की डिमांड, जानें क्‍या है वजह
केजरीवाल के मोबाइल पर आई वो एक कॉल, जिसने बना दिया उन्‍हें मुख्‍यमंत्री
मेघालय में इटली, अर्जेन्टीना और स्वीडन चुनेंगे विधायक! जानें क्‍यों होगा ऐसा

चुनाव प्रचार के लिए बढ़ी सीएम योगी की डिमांड, जानें क्‍या है वजह

केजरीवाल के मोबाइल पर आई वो एक कॉल, जिसने बना दिया उन्‍हें मुख्‍यमंत्री

मेघालय में इटली, अर्जेन्टीना और स्वीडन चुनेंगे विधायक! जानें क्‍यों होगा ऐसा

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *