Menu
blogid : 321 postid : 1391345

लालजी टंडन ने मायावती से राखी बंधवाई तो विपक्षी दलों के होश उड़ गए, जानिए आगे का किस्सा

Rizwan Noor Khan

21 Jul, 2020

 

 

उत्तर प्रदेश की राजनीति का प्रमुख चेहरा रहे लालजी टंडन अब हमारे बीच नहीं हैं। उनका लखनउ में सुबह निधन हो गया। लालजी टंडन ने वार्ड स्तर से राजनीतिक की शुरुआत की और देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सबसे खास रहे। लालजी टंडन ने अपनी राजनीतिक जीवन में कई बड़े काम किए लेकिन मायावती से राखी बंधवाने की घटना ने उन्हें देश में सबसे चर्चित नेता बना दिया।

 

 

 

 

सपा-बसपा का गठबंधन और विवाद
बताया जाता है कि 1992 में उत्तर प्रदेश में कल्याण सिंह की भाजपा सरकार गिरने के बाद 1993 में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने मिलकर सरकार बनाई। मुलायम सिंह यादव मुख्यमंत्री बने। 1995 में कामकाज को लेकर सपा और बसपा के बीच दरार पैदा होने लगी थी। भाजपा की ओर से ब्रह्मदत्त तिवारी और लालजी टंडन इस मामले को करीब से देख रहे थे।

 

 

 

गेस्ट हाउस कांड में लालजी टंडन ने मायावती को बचाया
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 1995 में मायावती लखनउ के मीराबाई रोड पर स्थित गेस्ट हाउस में अपने विधायकों और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रही थीं। बैठक के दौरान ही बाहर से आए कुछ लोगों ने हमला कर दिया। भाजपा नेता लालजी टंडन के कहने पर ब्रह्मदत्त तिवारी ने गेस्ट हाउस पहुंचकर मायावती को बचाया था।

 

 

 

 

 

मायावती को सीएम बनाने में लालजी टंडन का हाथ
कहा जाता है कि इस हमले के पीछे समाजवादी पार्टी के नेताओं का ​हाथ था। खुद मायावती ने भी सपा पर हमले का आरोप लगाया था। इस घटना के बाद बसपा और भाजपा साथ आ गए। मुलायम सिंह के बाद मायावती उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री बनीं। कहा जाता है कि मायावती के मुख्यमंत्री बनने में लालजी टंडन का बड़ा हाथ था।

 

 

 

 

 

 

मायावती ने लालजी टंडन को राखी बांधी
मुख्यमंत्री बनने के बाद मायावती ने लालजी टंडन को अपना मुंंहबोला भाई बताया। 2002 में मायावती भाजपा के समर्थन के साथ प्रदेश की मुख्यमंत्री थीं। टंडन को राखी बांधते हुए तस्वीरें सामने आई थीं। इन तस्वीरों से विपक्षी दलों के होश उड़ गए थे। हालांकि, इसे एक राजनीतिक स्टंट ही माना गया क्योंकि बाद में कभी ऐसी तस्वीरें या घटनाएं देखने को नहीं मिलीं।

 

 

 

 

अटल बिहारी के खास थे लालजी टंडन
लालजी टंडन उत्तर प्रदेश की राजनीति का बड़ा चेहरा थे। वह कई बार लगातार विधायक चुने गए और उत्तर प्रदेश की मायावती सरकार और कल्याण सिंह सरकार में मंत्री रहे। वह विधानसभा में सदन के नेता और विपक्ष के नेता भी रहे। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सबसे खास लोगों में रहे लालजी टंडन ने वर्तमान में मध्य प्रदेश के गवर्नर थे।…NEXT

 

 

 

Read More :

छात्र राजनीति से निकले वीपी सिंह कैसे बने देश के प्रधानमंत्री, जानिए पूरी कहानी

किसान पिता से किया वादा निभाया और बने प्रधानमंत्री, रोचक है एचडी देवगौड़ा का राजनीति सफर

राष्ट्रपति का वो चुनाव जिसमें दो हिस्सों में बंट गई थी कांग्रेस, जानिए नीलम संजीव रेड्डी के महामहिम बनने की कहानी

जनेश्‍वर मिश्र ने जिसे हराया वह पहले सीएम बना और फिर पीएम

 

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *