Menu
blogid : 321 postid : 1391404

महात्मा गांधी पर बनी फिल्में जिन्हें 8 से ज्यादा IMDb रेटिंग हासिल, एक को ऑस्कर अवॉर्ड भी मिला

Rizwan Noor Khan

2 Oct, 2020

देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन हर किसी के लिए प्रेरणास्रोत है। उनके बलिदान को पूरी दुनिया जानती है। बापू के विचारों पर दर्जनों किताबें लिखी गई हैं, जबकि उनके जीवन पर बॉलीवुड ही नहीं हॉलीवुड तक दर्जनों फिल्में बना चुके हैं। बापू के जीवन पर कई भाषाओं में फिल्में बन चुकी हैं। जबरदस्त लोकप्रियता हासिल करने वाली इन फिल्मों की IMDb रेटिंग 8 से भी ज्यादा है। एक फिल्म ऐसी भी है जिसे ऑस्कर अवॉर्ड से भी नवाजा गया।

बापू पर बनी पहली फिल्म को हासिल है टॉप IMDb रेटिंग
महात्मा गांधी के जीवन पर केंद्रित सबसे पहली फिल्म ‘महात्मा: लाइफ आफ गांधी 1869—1948’ बनाई गई। 1968 में रिलीज की गई यह डॉक्यूमेंट्री फिल्म 5.30 मिनट लंबी थी। फिल्म को विट्ठल भाई झावेरी ने बनया था। इसमें महात्मा गांधी के ओरिजिनल कोट्स फुटेज, आर्काइव फोटोग्राफ्स का इस्तेमाल किया गया था। फिल्म को 8.1/10 की IMDb रेटिंग हासिल है।

ऑस्कर अवॉर्ड जीतने वाली फिल्म
बापू के जीवन पर बनने वाली दूसरी फिल्म 1982 में रिजील हुई ‘गांधी’ थी। फिल्म को हॉलीवुड के ऑस्कर विनर रिचर्ड एटनबरो ने बनाया था। फिल्म में हॉलीवुड एक्टर बेन किंग्सले ने बापू का किरदार निभाया था। फिल्म में चंपारण आंदोलन की कहानी मुख्य रूप से दिखाई गई थी। इस फिल्म ने दुनियाभर में लोकप्रियता के झंडे गाड़ दिए और सिनेमा के सबसे बड़े पुरस्कार आस्कर से सम्मानित की गई। फिल्म को 8/10 IMDb रेटिंग हासिल है।

श्याम बेनेगल ने मोहनदास को महात्मा बनते दिखाया
1996 में श्याम बेनेगल ने बापू के दक्षिण अफ्रीका प्रवास पर केंद्रित फिल्म ‘‘द मेकिंग ऑफ गांधी’ बनाई थी। इस फिल्म को भी दर्शकों ने खूब पसंद किया। फिल्म में बापू की भूमिका उस वक्त के चर्चित एक्टर रजित कपूर ने निभाया था। फिल्म की कहानी में मोहनदास के महात्मा बनने की कहानी को बखूबी दिखाया गया था। इस फिल्म को 6.7/10 IMDb रेटिंग मिली है।

The Making of the Mahatma (1996) (Video Grab: NFDCCinemasofIndia/Youtube)

बड़े बजट और कई सुपरस्टार्स से सजी फिल्म
मशहूर एक्टर कमल हासन ने 2000 में बापू के जीवन पर बड़े बजट और बड़े सितारों के साथ ‘हे राम’ फिल्म बनाई।
इस फिल्म में बापू का किरदार नसीरुद्दीन शाह ने निभाया। फिल्‍म में शाहरुख खान, ओम पुरी, रानी मुखर्जी और हेमा मालिनी जैसे बड़े सितारे भी थे। फिल्म को दर्शकों ने खूब पसंद किया। इसे 7.9/10 की IMDb हासिल है।

बापू की हत्या के बाद की कहानी कहती फिल्म
साल 2005 में जहनु बरूआ ने फिल्म ‘मैने गांधी को नहीं मारा’ बनाई। फिल्म को जबरदस्त लोकप्रियता हासिल हुई और इसे नेशनल फिल्म समेत कई फिल्मफेयर अवॉर्ड से नवाजा गया। फिल्म एक ऐसे इंसान की मनोस्थिति दिखाती है, जिसे यह वहम हो जाता है कि उसने बापू को मारा है। फिल्‍म में अनुपम खेर ने उस शख्स का किरदार निभाया है। फिल्म को 7.4/10 IMDb रेटिंग मिली है।

गांधीगिरी सिखाने वाली फिल्म को 8.1 IMDb रेटिंग
फिल्ममेकर राजकुमार हिरानी ने साल 2006 में फिल्म ‘लगे रहो मुन्नाभाई’ बनाई। फिल्म का मुख्य किरदार निभाने वाले संजय दत्त को महात्मा गांधी दिखाई देते हैं। गांधीजी का किरदार दिलीप प्रभावलकर ने निभाया। मुख्य किरदार बापू के विचारों से प्रभावित होकर गांधीगिरी कर लोगों को सही रास्ते पर लाता है। इस फिल्म को जबरदस्त सफलता हासिल हुई और 8.1/10 IMDb रेटिंग मिली।

नेशनल अवॉर्ड जी​तने वाली गांधी माई फादर
फिल्म निर्देशक जोड़ी अब्बास मस्तान ने साल 2007 में महात्मा गांधी और उनके बेटे हरिलाल के रिश्तों पर केंद्रित फिल्म ‘गांधी माई फादर’ बनाई। फिल्म को अनिल कपूर ने प्रोड्यूस किया था और बापू की भूमिका दर्शन जरीवाला ने निभाई थी जबकि हरिलाल का किरदार अभिनेता अक्षय खन्ना ने निभाया था। फिल्म को खूब सराहना मिलने के साथ ही नेशनल फिल्म अवॉर्ड भी हासिल हुआ। फिल्म को 7.3/10 IMDb रेटिंग हासिल है।

Gandhi My Father. (Image courtesy: Eros Now)

बापू पर बनी सबसे लेटेस्ट फिल्म
महात्मा गांधी से प्रेरित सबसे लेटेस्ट हिंदी फिल्म में ‘हमने गांधी को मार दिया’ शामिल है। फिल्म को 2018 में रिलीज किया गया था। इसमें बापू की भूमिका को दिखाया नहीं गया था लेकिन उनके विचारों और उनकी हत्या के वक्त पर कहानी को बुना गया है। फिल्म को खूब सराहा गया और इसे 6.7/10 IMDb रेटिंग हासिल हुई।

रोड टू को संग को दर्जन भर से ज्यादा अवॉर्ड
2009 में रिलीज हुई इस फिल्म में परेश रावल, ओमपुरी जैसे दिग्गज कलाकारों ने अभिनय किया है। फिल्म में सामाजिक वैमनस्य, हिंदू मुस्लिम और ऊंच नीच के बीच के भेदभाव और सामाजिक भाईचारे को बचाने की कोशिशों को बखूबी पेश किया गया है। फिल्म को दर्जन भर से ज्यादा फिल्म अवॉर्ड्स हासिल हुए। फिल्म को 7.4/10 IMDb रेटिंग हासिल है।

ये फिल्में भी देखें और इन प्लेटफॉर्म पर देखें
महात्मा गांधी के विचारों पर केंद्रित फिल्मों में शामिल ओमपुरी के अभिनय से सजी फिल्म गांधीगीरी को 2016 में रिलीज किया गया था। 2008 में कन्नड़ भाषा में नन्नू फिल्म रिलीज की गई थी। 2019 में मराठी भाषा में बापू पर बनी फिल्म रिबूटिंग महात्मा को रिलीज किया गया। अगर आप इन फिल्मों को देखना चाहते हैं तो ज्यादातर यूट्यूब पर उपलब्ध हैं, जबकि कुछ हॉटस्टार जैसे ओटीटी प्लेटफॉर्म पर देखी जा सकती हैं।…NEXT

 

Read More : क्या आप जानते हैं विश्व के बेस्ट फाइनेंस मिनिस्टर चुने गए थे प्रणब मुखर्जी

छात्र राजनीति से निकले वीपी सिंह कैसे बने देश के प्रधानमंत्री, जानिए पूरी कहानी

किसान पिता से किया वादा निभाया और बने प्रधानमंत्री, रोचक है एचडी देवगौड़ा का राजनीति सफर

राष्ट्रपति का वो चुनाव जिसमें दो हिस्सों में बंट गई थी कांग्रेस, जानिए नीलम संजीव रेड्डी के महामहिम बनने की कहानी

जनेश्‍वर मिश्र ने जिसे हराया वह पहले सीएम बना और फिर पीएम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *