Menu
blogid : 321 postid : 1391463

खादी उत्पादों को लगे पंख, 5 माह में बिके 19 लाख मास्क, रिकॉर्ड स्तर पर प्रोडक्ट की बढ़ी डिमांड

Rizwan Noor Khan

30 Oct, 2020

महात्मा गांधी ने लोगों को विदेशी कपड़ों के त्याग और स्वदेशी यानी खादी के उपयोग के लिए प्रेरित किया था। उस वक्त बड़े पैमाने में लोगों ने खादी को जीवन में आत्मसात किया, जो बाद तलक जारी रहा। पिछले कुछ सालों में खादी कपड़ों व अन्य सामग्री का इस्तेमाल कम हुआ है। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से खादी के उत्पाद खरीदने की अपील की थी। अपील के बाद खादी के मास्क अन्य उत्पादों की तुलना में सबसे अधिक बिके हैं। पिछले कुछ महीनों में खादी की मांग में अचानक तेजी से बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।

खादी के प्रति लोगों का बढ़ रहा रुझान
कोरोना महामारी के दौरान लोगों ने खादी के मास्क को सबसे ज्यादा पसंद किया, जिससे इसकी बिक्री में जबरदस्त उछाल देखा गया। कोरोना काल के दौरान 5 महीनों में रिकॉर्ड 19 लाख खादी मास्क की बिक्री हुई है। खादी के किसी प्रोडक्ट की इतनी तेज और बड़े पैमाने बिक्री होना दर्शाता है कि खादी के प्रति लोगों का रुझान बढ़ रहा है।

पीएम मोदी की अपील से बढ़ गई बिक्री
खादी ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने आईएएनएस को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद खादी उत्पाद की बिक्री बढ़ गई हैं पिछले 5 माह में रिकॉर्ड पैमाने पर खादी के सभी प्रोडक्ट की बिक्री बढ़ी है। हर रोज खादी इंडिया के स्टोर्स में लोग पहुंच रहे हैं। कोरोना काल में सबसे ज्यादा बिक्री खादी मास्क की हुई है। दीवाली को देखते हुए हाल के दिनों में लोगों ने होममेड दीयों की डिमांड की है।

उत्पादन और बिक्री में जबरदस्त उछाल
विनय कुमार सक्सेना ने बताया कि मांग बढ़ने से बीते 6 सालों में 115.13 फीसदी उत्पादन बढ़ा है। जबकि, प्रोडक्ट सेल में 178.89 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित खादी इंडिया के स्टोर पर 2 अक्टूबर गांधी जयंती के दिन रिकॉर्ड पैमाने पर 1.02 करोड़ के प्रोडक्ट की बिक्री हुई। जबकि, बीते शनिवार को करीब सवा करोड़ के प्रोडक्ट बेचे गए।

आनलाइन बिक रहे 700 प्रोडक्ट
विनय कुमार के मुताबिक दिल्ली में खादी इंडिया के करीब 11 स्टोर्स हैं। लॉकडाउन अनलॉक के बाद अचानक से बिक्री में इजाफा देखा गया है। उन्होंने बताया कि खादी ग्रामोद्योग के हजारों प्रोडक्ट उपलब्ध हैं। इनमें से 700 प्रोडक्ट आनलाइन बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। दीपावली को देखते हुए मिट्टी के दीयों की मांग बढ़ी है, इसलिए राजस्थान के पोखरण से दीये बनकर आ रहे हैं।

खादी के इन प्रोडक्ट की धूम
खादी ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन के अनुसार सबसे ज्यादा बिकने वाले खादी प्रोडक्ट में मास्क और रुमाल की धूम है। जबकि, फुटवियर, अचार, पापड़ और शहद को भी लोग खरीदना पसंद कर रहे हैं। बिक्री में पहले नंबर पर मास्क, दूसरे नंबर पर फैब्रिक, तीसरे पर शहद और ग्रॉसरी हैं। वहीं, चौथे नंबर पर खादी के रूमाल खूब बिक रहे हैं।…NEXT

 

 

Read More : डीएसपी की नौकरी छोड़ राजनीति में आए थे रामविलास पासवान

विश्व के बेस्ट फाइनेंस मिनिस्टर चुने गए थे प्रणब मुखर्जी

छात्र राजनीति से निकले वीपी सिंह कैसे बने देश के प्रधानमंत्री, जानिए पूरी कहानी

किसान पिता से किया वादा निभाया और बने प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा

राष्ट्रपति का वो चुनाव जिसमें दो हिस्सों में बंट गई थी कांग्रेस

जनेश्‍वर मिश्र ने जिसे हराया वह पहले सीएम बना और फिर पीएम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *