Menu
blogid : 321 postid : 1390280

सियासी विवादों से लेकर दोस्ती से दुश्मनी तक के किस्सों के लिए मशहूर हैं अमर सिंह, ‘होम ब्रेकर’ का लग चुका है लेबल

Pratima Jaiswal

27 Jan, 2019

बॉलीवुड सेलिब्रिटीज से रिश्तों और सियासी गलियारों में विवादित किस्सों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले अमर सिंह अपनी बेबाकी और मुंह फट स्वभाव की वजह से जाने जाते हैं। उनकी दोस्ती और दुश्मनी को लेकर भी सुर्खियों का बाजार गर्म रहता है। ऐसे में अमर सिंह के किस्से राजनीतिक गलियारों में ही नहीं बल्कि आम लोगों के लिए भी चर्चा का विषय है। आइए, एक नजर डालते हैं।

 

 

मुलायम की दूसरी शादी लाए थे सामने

मुलायम की प्रेम कहानी को हवा दी, अमर ने। मुलायम का दिल अपनी ही पार्टी की एक महिला कार्यकर्त्ता पर आ गया। पहले से शादी-शुदा मुलायम अपने से 20 साल छोटी दूसरी पत्नी को सबके सामने स्वीकार नहीं कर सके। हालांकि, ये बात सभी जानते थे। नेताजी की पहली पत्नी और अखिलेश की मां की मौत 2003 में हो गई। जिसके बाद अमर सिंह ने अपना दांव खेलते हुए मुलायम की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता को दूसरी पत्नी का दर्जा दिलाने के लिए जमीन-आसमान एक कर दिया। ये बात अखिलेश को अंदर ही अंदर खटकती थी। इस तरह अमर अंकल, अखिलेश बाबू की नजरों में बन गए सबसे बड़े खलनायक।

 

 

 

‘होम ब्रेकर’ का लेबल
अब नाम पर ‘होम ब्रेकर’ का लेबल लगा हो और दो-चार घर न तोड़े हो, भला ये कैसे हो सकता है! इस अमर कथा में अमिताभ, जया, अनिल अंबानी, सुब्रत रॉय जैसे कई मशहूर लोगों के दोस्ती से दुश्मनी तक के तमाम किस्से शामिल हैं। कभी वो अमिताभ को सबसे बड़ा क्रिमिनल कहते पाए गए, तो कभी पार्टी से 6 साल पहले निकाले जाने पर मुलायम-आजम के खिलाफ जहर उगलते हुए नजर आए। ऐसे में आपको अभिनेता राजकुमार का वो फिल्मी डॉयलाग तो याद ही होगा ‘जानी जिसके घर शीशे के होते हैं, वो दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं मारा करते’। अब अमर सिंह स्टाइल में ये डॉयलाग कुछ ऐसा होगा ‘जिनके खुद के घर नहीं होते न! वो औरों के घरों पर बिदांस पत्थर मारते हैं अखिलेश बाबू!

 

 

पार्टी से छुट्टी और सितारों का दूर जाना
एक वक्त ऐसा आया कि अमर सिंह को समाजवादी पार्टी से बाहर कर दिया गया। जातिगत राजनीति, पार्टी के खिलाफ काम, समाजवादी सोच के खिलाफ काम करने का आरोप लगाते हुए उन्हें पार्टी ने निष्कासित कर दिया। उनके साथ जया प्रदा को भी बाहर किया गया। जया बच्चन ने अपना निर्णय लिया और समाजवादी पार्टी में बनी रहीं। यहीं से बच्चन परिवार के साथ उनकी खटास शुरू गयी। इसके बाद उनका साथ अमिताभ, शाहरुख खान ने छोड़ दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अमर को इस स्थिति में देखकर जया फूट-फूटकर रोई थी।

 

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *