Menu
blogid : 321 postid : 1390351

मोदी सरकार के इस फैसले से खुश हुए हार्दिक पटेल, 2019 लोकसभा चुनाव में उतर सकते हैं मैदान में

हार्दिक पटेल अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। पिछले दिनों अपनी शादी को लेकर हार्दिक सुर्खियों में थे। ऐसे में हार्दिक के प्रशंसक उन्हें एक बार फिर से मुद्दों के लिए लड़ते हुए देखना चाहते थे। ऐसा लगता है हार्दिक अपने प्रशंसकों की ये इच्छा जल्दी ही पूरी करने वाले हैं। वैसे तो हार्दिक मोदी सरकार के बारे में विवादित बयान देते आए हैं लेकिन ऐसा लगता है कि मोदी के कामों से हार्दिक खासे प्रभावित हुए हैं।

Pratima Jaiswal
Pratima Jaiswal 7 Feb, 2019

 

 

आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग को आरक्षण देने से खुश
सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को सरकारी नौकरियों और शिक्षा में 10 प्रतिशत का आरक्षण के फैसले पर खुशी जताते हुए हार्दिक ने मोदी सरकार के इस कदम को सराहनीय बताया। हार्दिक ने कहा है कि वह केंद्र की तरफ से सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को सरकारी नौकरियों और शिक्षा में 10 प्रतिशत का आरक्षण दिए जाने से संतुष्ट हैं। इसके साथ ही पटेल ने कहा कि वह आगामी लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। पटेल ने कहा , ‘मैं गैर-पिछड़े वर्गो के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण के निर्णय से खुश हूं, लेकिन पहले इसे सर्वोच्च न्यायालय द्वारा स्वीकृत करने दीजिए।’

 

 

हार्दिक ने पाटीदार समुदाय पर भी की खुलकर बात। उन्होंने कहा ‘लेकिन, इसके साथ ही, पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) का आंदोलन तब तक जारी रहेगा, जबतक यह आरक्षण वास्तविक अर्थो में लागू नहीं होता और पाटीदार (पटेल) युवाओं को वास्तव में इससे फायदा नहीं होता। मेरी प्राथमिकता पाटीदारों के लिए सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण है। हम सर्वणों के लिए केंद्र से आरक्षण के संबंध में घोषणा पाने में सफल हुए हैं लेकिन हम सर्वोच्च न्यायालय द्वारा इसे स्वीकृत किए जाने तक इंतजार करेंगे।’

 

 

चुनाव लड़ने के फैसले पर दिया ये जवाब
जब हार्दिक से पूछा गया कि वो गुजरात में कहां से चुनाव लड़ सकते हैं तो उन्होंने कहा ‘अरे बॉस, कुछ भी फाइनल नहीं हुआ है। आप मीडियाकर्मी यही पूछते रहते हैं कि मैं चुनाव लड़ूंगा या नहीं। मेरा जवाब है कि हो सकता है, लेकिन अभी कुछ फाइनल नहीं हुआ है।’
पटेल ने कहा कि पहले वह उम्र के कारण संवैधानिक रूप से चुनाव लड़ने के योग्य नहीं थे, लेकिन जुलाई 2018 में 25 वर्ष के हो जाने के बाद अब वह चुनाव लड़ सकते हैं…Next

 

Read More :

भारत की पहली महिला केंद्रीय मंत्री थीं राजकुमारी अमृत कौर, दांडी मार्च में जाना पड़ा था जेल

राजनीति से दूर प्रियंका गांधी से जुड़ी वो 5 बातें, जिसे बहुत कम लोग जानते हैं

सेलिब्रिटीज की मदद से लेकर विवादों की वजह से सुर्खियों में रहता था बाल ठाकरे का नाम, ये है मशहूर किस्से

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *