Menu
blogid : 321 postid : 1390531

सरकारी नौकरी छोड़कर राजनीति के अखाड़े में उतरे हैं ये चेहरे, कोई बना सीएम तो कोई हारा चुनाव

राजनीति एक ऐसा क्षेत्र जिसमें फिल्मी सितारों से लेकर खेल के दिग्गज तक एंट्री करते रहते हैं। लोकसभा चुनाव 2019 से पहले कई फिल्मकार, कलाकार और खिलाड़ी भी राजनीति में एंट्री कर चुके हैं। ऐसे में राजनीतिक पार्टियों की कोशिश भी यही रहती है कि जनता को रिझाने के लिए लोकप्रिय लोग उनसे जुड़े। ऐसे में कौन-सी सेलिब्रिटी राजनीति में कदम रख दे, कहा नहीं जा सकता। वहीं, ऐसे लोगों की कमी भी नहीं है जो अपनी सरकारी नौकरी छोड़कर राजनीति के अखाड़े में अपनी किस्मत आजमाने उतरे हो। आइए, एक नजर उन लोगों पर।

Pratima Jaiswal
Pratima Jaiswal 26 Mar, 2019

शाह फैसल

 

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के साथ शाह फैसल

जम्मू-कश्मीर के पूर्व आईएएस अधिकारी शाह फैसल (35 साल) ने कुछ दिन पहले ही अपनी नई राजनीतिक पार्टी बनाई है, जम्मू-कश्मीर पीपल्स मूवमेंट। फैसल ने इसी साल जनवरी में नौकरी से इस्तीफा देकर कश्मीर के हालातों को सुधारने के इरादे से राजनीति में कदम रखा है।

 

ओपी चौधरी


छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह के करीबी माने जाने वाले 2005 बैच के इस आईएएस अधिकारी ने पिछले साल अगस्त में पद से इस्तीफा दिया था। रायपुर के कलेक्टर का पद छोड़कर उन्होंने बीजेपी पार्टीजॉइन की थी और पार्टी के टिकट पर खरसिया सीट से खड़े हुए, लेकिन उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा था।

 

मणिशंकर अय्यर


कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने 1963 में भारतीय विदेश सेवा जॉइन की। 1989 में राजनीति में आने के लिए वीआरएस लिया।

 

सत्यपाल सिंह

 

 

एचआरडी स्टेट मिनिस्टर सत्यपाल सिंह महाराष्ट्र कैडर के 1980 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। 2014 में उन्होंने मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से इस्तीफा दे दिया और बीजेपी में शामिल हो गए। यूपी के बागपत से चुनाव जीते और केंद्र में मंत्री भी बन गए।

 

अरविंद केजरीवाल


दिल्ली के सीएम और आप प्रमुख ने 1992 में इंडियन रेवेन्यू सर्विस जॉइन की। कुछ साल बाद पद से इस्तीफा देकर आरटीआई के लिए काम करने लगे और 2006 में रैमन मेगसेसे अवॉर्ड भी जीता।…Next

 

 

Read More :

कौन हैं टॉम वडक्कन जो कांग्रेस छोड़ भाजपा में हुए शामिल, कभी कांग्रेस ज्वाइन करने के लिए छोड़ी थी नौकरी

जेल में कैदियों को भगवत गीता पढ़कर सुनाते थे जॉर्ज फर्नांडीस, मजदूर यूनियन और टैक्सी ड्राइवर्स के थे पोस्टर बॉय

पहली मिस ट्रांस क्वीन कांग्रेस में हुईं शामिल, 2018 में जीता था खिताब

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *