Menu
blogid : 321 postid : 1389188

गोरखपुर सीट पर भाजपा की हार और 29 साल बाद टूट गए ये दो रिकॉर्ड

उत्‍तर प्रदेश की दो लोकसभा सीटों गोरखपुर और फूलपुर पर हुए उपचुनाव के नतीजे आ गए हैं। दोनों सीटें भाजपा के हाथ से निकल गईं और इन पर बसपा समर्थित सपा उम्‍मीदवारों ने जीत दर्ज की। 2014 के आमचुनाव में इन दोनों सीटों पर भाजपा ने कब्‍जा जमाया था। फूलपुर सीट जहां पहली बार भाजपा के खाते में आई थी, वहीं गोरखपुर सीट पर लंबे समय से भाजपा का कब्‍जा था। मगर इस बार के चुनाव में भाजपा का यह मजबूत दुर्ग ढह गया। इसी के साथ गोरखपुर में लगभग 29 साल पुराने दो रिकॉर्ड भी टूट गए। आइये आपको बताते हैं कि गोरखपुर में सपा की जीत के बाद कौन-कौन से दो रिकॉर्ड टूटे।

 

 

गोरखनाथ मठ और राजपूत प्रत्‍याशी से दूर हुई सीट

 

 

गोरखपुर की लोकसभा सीट पर पिछले 29 साल से गोरखनाथ मठ का कब्‍जा रहा। 1989 से 2014 के लोकसभा चुनाव तक इस सीट पर गोरखनाथ मंदिर से जुड़ी हस्तियां ही जीत का भगवा ध्वज फहराती आ रही थीं। मगर 2018 के उपचुनाव में सपा की जीत के साथ ही य‍ह सीट गोरखनाथ मठ से दूर हो गई। इतना ही नहीं, 29 साल बाद पहली बार ऐसा हुआ, जब इस सीट पर राजपूत प्रत्‍याशी का कब्‍जा नहीं रहा।

 

योगी आदित्‍यनाथ पांच बार रहे सांसद

 

 

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ 1998 से लेकर 2014 तक लगातार पांच बार इस सीट से जीत दर्ज कर गोरखपुर के सांसद रहे। 2017 में यूपी का मुख्‍यमंत्री बनने के बाद उन्‍होंने यहां की लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद उपचुनाव के लिए बीजेपी ने उपेंद्र शुक्ला को मैदान में उतारा, जिन्‍हें बसपा समर्थित सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद ने हरा दिया।

 

1989 में योगी के गुरु ने जीता था चुनाव

 

 

1989 से यानी पिछले 29 साल से गोरखपुर की सियासत का सबसे बड़ा केंद्र गोरखनाथ मठ है। आदित्यनाथ के गुरु महंत अवैद्यनाथ 1989 में गोरखपुर लोकसभा सीट से हिंदू महासभा के उम्मीदवार के रूप में चुनाव जीतकर संसद पहुंचे। इसके बाद उन्होंने 1991 और 1996 में बीजेपी के उम्मीदवार के रूप में जीत दर्ज की।

 

1998 में योगी ने संभाली विरासत

 

 

1998 में महंत अवैद्यनाथ की सियासी विरासत उनके उत्तराधिकारी यूपी के मौजूदा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संभाली। योगी लगातार पांच बार यहां से सांसद बने। वे 1998, 1999, 2004, 2009 और 2014 में बीजेपी के उम्मीदवार के तौर पर जीते। अब उपचुनाव में सपा के उम्‍मीदवार ने जीत दर्ज कर 29 साल बाद गोरखपुर की सीट को गोरखनाथ मठ और राजपूत से दूर कर दिया। बता दें कि महंत अवैद्यनाथ और योगी आदित्‍यनाथ राजपूत समुदाय से आते हैं, हालांकि दोनों ने गृहस्‍थ जीवन से संन्‍यास ले लिया…Next

 

Read More:

PF अकाउंट बैलेंस जानना चाहते हैं आप, तो घर बैठे ऐसे करें पता
इस साल आने वाली 6 सबसे महंगी फिल्में, जिनमें एक का बजट है 400 करोड़!
रणबीर कपूर ने ठुकराई ये 5 फिल्‍में और रणवीर सिंह की लग गई ‘लॉटरी’

   
          
            
        

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *