Menu
blogid : 321 postid : 688

Dharmendra – धर्मेन्द्र का बॉलिवुड से राजनीति तक का सफर

dharmendraधर्मेंद्र का जीवन परिचय

चौदहवीं लोकसभा के सदस्य रह चुके मशहूर फिल्म अभिनेता धर्मेंद्र का जन्म 8 दिसंबर, 1935 को साहनेवाल, पंजाब में हुआ था. पंजाबी जाट परिवार में जन्में धर्मेंद्र का पूरा नाम धर्मेंद्र सिंह देओल है. धर्मेंद्र ने अपना शुरूआती बचपन फगवाड़ा, कपूरथला में व्यतीत किया. इनके पिता केवल किशन सिंह देओल लुधियाना के गांव लालटन के एक स्कूल में हेडमास्टर थे. कुछ समय बाद धर्मेंद्र अपने परिवार के साथ कपूरथला रहने चले गए. 19 वर्ष की आयु में धर्मेंद्र का विवाह प्रकाश कौर के साथ संपन्न हुआ. फिल्म अभिनेता सन्नी देओल और बॉबी देओल इन्हीं के बेटे हैं. 70 के दशक में धर्मेंद्र ने फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी से प्रेम-विवाह किया. ऐसा माना जाता है कि पहली पत्नी के रहते हुए दूसरा विवाह करने के लिए धर्मेंद्र और हेमा मालिनी ने अपना धर्म परिवर्तन किया था. हेमा मालिनी और धर्मेंद्र की दो बेटियां (एशा देओल और अहाना देओल) हैं.


धर्मेंद्र का फिल्मी सफर

पंजाब में फिल्म फेयर नव प्रतिभा अवॉर्ड जीतने के बाद धर्मेंद्र काम की तलाश में मुंबई आ गए. अर्जुन हिंगोरानी निर्देशित फिल्म दिल भी तेरा हम भी तेरे से अपने कॅरियर की शुरूआत करने वाले तथा 60 के दशक में प्रदर्शित ब्लैक एंड व्हाइट फिल्मों में अपने अभिनय के रंग बिखेरने वाले धर्मेंद्र को जल्द ही एक रोमांटिक हीरो के तौर पर पहचान मिलने लगी. लेकिन 70 के दशक के मध्य में धर्मेंद्र एक्शन फिल्मों के नायक बन गए. धर्मेंद्र ने उस समय की सभी बेहतरीन अभिनेत्रियों जैसे नूतन, मीना कुमारी, सायरा बानो आदि के साथ अभिनय किया. 1975 में प्रदर्शित हुई फिल्म शोले धर्मेंद्र के कॅरियर की सबसे बड़ी हिट साबित हुई. हिंदी सिनेमा के सुनहरे पन्नों में अपना नाम सुनिश्चित करा चुकी रमेश सिप्पी निर्देशित फिल्म शोले ने धर्मेंद्र को वैश्विक स्तर पर पहचान दिलवाई. इस फिल्म के बाद धर्मेंद्र की गिनती विश्व के 25 बेजोड़ अभिनेताओं में होने लगी.


धर्मेंद्र अभिनेता ही नहीं बल्कि निर्माता भी हैं. वर्ष 1983 में धर्मेंद्र ने अपने बड़े बेटे सन्नी देओल को फिल्म बेताब और 1995 में छोटे बेटे बॉबी देओल को बरसात फिल्म का निर्माण कर उन्हें बॉलिवुड में प्रदार्पित किया. वर्ष 2007 में अपने फिल्म में सन्नी, बॉबी और धर्मेंद्र पहली बार एक साथ पर्दे पर आए.


जुलाई 2011 में कलर्स चैनल पर आने वाले इंडियाज गॉट टैलेंट शो में जज के तौर पर धर्मेंद्र ने छोटे पर्दे पर भी कार्य किया.


धर्मेंद्र का राजनैतिक सफर

फिल्मों में अभिनय करने के अलावा धर्मेंद्र ने राजनीति में भी एक सक्रिय भूमिका का निर्वाह किया है. वर्ष 2004 में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर धर्मेंद्र ने राजस्थान के बीकानेर निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा का चुनाव जीता था. लेकिन संसद के किसी भी सत्र में शामिल ना होने और अपने निर्वाचन क्षेत्र से पूरी तरह गायब रहने के कारण धर्मेंद्र को कई आरोपों का सामना करना पड़ा. विपक्षी दलों और धर्मेंद्र के विरोधियों ने उन पर आरोप लगाए कि वह अपना सारा समय फिल्म की शूटिंग में ही लगाते हैं और उन्हें अपने क्षेत्र के विकास और समस्याओं से कोई लेना-देना नहीं है.


फिल्म अभिनेता होने के बावजूद धर्मेंद्र हमेशा यही कहते रहे हैं कि मुंबई फिल्म इंडस्ट्री लड़कियों के लिए सही नहीं है. वह अपनी बेटी एशा के बॉलिवुड में आने के सख्त खिलाफ थे. हेमा मालिनी के समर्थन के कारण एशा ने फिल्मी दुनियां में कदम रखा.


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *