Menu
blogid : 26149 postid : 3343

स्ट्रोक से 1.45 करोड़ लोगों के अपंग होने का खतरा, वैश्विक रिपोर्ट में बताए गए बचने के उपाय

Rizwan Noor Khan

29 Oct, 2020

दुनियाभर में स्ट्रोक यानी आघात से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। सालाना कई लाख लोग स्ट्रोक के चलते अपनी जिंदगी गवां बैठते हैं। चिकित्सा विज्ञानियों के अनुसार बदलते परिवेश और खानपान के चलते यह बीमारी पहले से कहीं ज्यादा घातक होती जा रही है। वैश्विक रिपोर्ट में इस खतरनाक बीमारी से बचने के आसान उपाय बताए गए हैं।

Photo courtesy : world stroke org

WSO ने जारी किया 2020 का डाटा
विश्व आघात दिवस 29 अक्टूबर के मौके पर वर्ल्ड स्ट्रोक ऑर्गनाइजेशन WSO ने साल 2020 का डाटा जारी करते हुए बताया है कि आघात की बीमारी पहले की तुलना में ज्यादा खतरनाक हो गई है, जिससे मरीज के मरने की आशंका अधिक बढ़ गई है। आघात कई तरह का होता है और यह मानव शरीर के अलग अलग अंगों को निष्क्रिय कर देता है।

हर चौथा शख्स स्ट्रोक के खतरे में
स्ट्रोक बिना किसी बड़े संकेत के अचानक कभी भी और किसी को भी हो सकता है। स्ट्रोक से आजीवन विकलांगता हो सकती है या फिर जान भी जा सकती है। WSO की रिपोर्ट के मुताबिक 4 में से 1 व्यक्ति को अपने जीवनकाल में स्ट्रोक का खतरा अधिक रहता है। शुरुआती लक्षण सामने आने पर तुरंत उपचार और सही देखभाल से वह दोबारा ठीक हो सकता है।

इस साल 55 लाख लोगों की आघात से मौत
WSO की रिपोर्ट के अनुसार इस साल 1.45 करोड़ लोग स्ट्रोक के खतरे में हैं। इसके परिणामस्वरूप 55 लाख लोगों को अपनी जान गवांनी पड़ सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक बीते सालों में बदलती दिनचर्या के चलते भी स्ट्रोक के मामले बड़ सकते हैं। पहले 40 की उम्र पार कर चुके लोगों को स्ट्रोक का खतरा रहता था पर अब यह युवा भी इसके दायरे में आ सकते हैं।

Infographic courtesy : world stroke org

स्ट्रोक झेल चुके हैं दुनियाभर के 8 करोड़ लोग
रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में 8 करोड़ लोग स्ट्रोक का खतरा झेल चुके हैं, इसमें से ज्यादातर तुरंत इलाज के बाद रिकवर हो गए, तो कुछ को मामूली अपंगता के साथ जिंदगी गुजारनी पड़ रही है। स्ट्रोक शरीर के किसी भी हिस्से पर अटैक कर सकता है। इसके लक्षणों में चेहरे का एक हिस्सा और होंठ टेढ़ा होना, हाथ—पैर का सुन्न पड़ जाना या काम नहीं करना, बोलने में जीभ लड़खड़ाना आदि हैं। जबकि, ब्रेन स्ट्रोक सबसे खतरनाक होता है। इसकी चपेट में आने वाला शख्स याद्दाश्त खो सकता है या जान गवां सकता है।

Infographic courtesy : WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताए घातक बीमारी से निपटने के उपाय
1.  शराब और सिगरेट और तंबाकू से तौबा करें।
2. हाई ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल पर कंट्रोल जरूरी।
3. डाइबिटी को कंट्रोल में रखें।
4. कमर की चौड़ाई और वजन पर नजर रखें।
5. संतुलित भोजन के लिए डाइट प्लान बनाएं।
6. रोजाना 30 मिनट तक एक्सरसाइज करें।
7. किसी भी अंग के सुन्न होने या झनझनाहट पर चिकित्सक से मिलें।…NEXT

 

Read more: स्ट्रोक से 1.45 करोड़ लोगों के अपंग होने का खतरा

5 करोड़ साल पहले जीवित था दुनिया का सबसे बड़ा पक्षी

मिस्र में फिर मिलीं 25 हजार साल से दफन ममी और सोने की मूर्तियां

चूहे को मिला बहादुरी का गोल्ड मेडल, 39 लैंडमाइंस नष्ट कर बचाई लोगों की जान

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *