Menu
blogid : 26149 postid : 4130

भावनाओं को व्यक्त करने का एक माध्यम है डांस, देखें क्या है विश्व नृत्य दिवस की खासियत

29 अप्रैल को विश्वभर में अंतरराष्ट्रीय डांस दिवस (World Dance Day) जाता है। एक खास डांस कलाकार के जन्मदिवस के रूप में इस दिन को मनाने की शुरुआत की गई थी। आइए जानते हैं इस दिन से जुड़ी कुछ खास बातें:-

Geetika Sharma
Geetika Sharma29 Apr, 2022
Different dance forms of India

कैसे हुई विश्व डांस दिवस की शुरुआत-
इंटरनेशनल थिएटर इंस्टीट्यूट (ITI) की डांस कमेटी ने 29 अप्रैल 1982 में इस दिन को मनाने की शुरुआत की थी, जिसके बाद से दुनिया में हर साल इस दिन को मनाया जाने लगा। इस साल विश्व भर में 40वां डांस दिवस (40th World Dance Day) मनाया जा रहा है। फ्रांस के महान डांस कलाकार जीन जार्ज नावेरे (Jean Georges Noverre) के जन्मदिन पर संयुक्त राष्ट्र (United Nation) ने इस दिन को मनाने की शुरुआत की थी।

क्या है विश्व डांस दिवस मनाने का मकसद-
डांस सिर्फ एक कला ही नहीं बल्कि अपनी भावनाओं को किसी के सामने रखने का एक माध्यम भी है। विश्व डांस दिवस (International Dance day 2022) को मनाने के लक्ष्य दुनियाभर के डांसरों को प्रोत्साहित करने के साथ-साथ लोगों में डांस के प्रति जागरूकता फैलाना भी है। साथ ही डांस को अपने करियर के रूप में चुनने वाले लोगों के लिए यह काफी महत्वपूर्ण दिन है। डांस दिवस (World Dance day 2022) को मनाने की वजह उन लोगों, सरकारों राजनेताओं और संस्थानों को इसका महत्व समझाना भी है, जो इसकी अहमियत मालूम नहीं है।

Image courtesy- twitter handle of Union Minister G Kishan Reddy

कला का प्रदर्शन करते हैं डांसर-
विश्व भर में डांस दिवस के अवसर पर कई तरह के कार्यक्रमों (programmes organised on Dance day) का आयोजन किया जाता है। खासतौर पर स्कूल, थिएटर अकादमी, शिक्षण संस्थानों और कुछ डांस के निजी स्कूलों में भी अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित होते हैं, जिसमें बच्चे, बड़े और डांस कलाकार भाग लेकर अपनी कला का प्रदर्शन करते हैं। साथ ही इस दिन कई पेशेवर डांस कलाकारों को कई सरकारों की ओर से सम्मानित भी किया जाता है।

भारत में भी डांस दिवस का विशेष महत्व-
इस बीच भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय (Indian Ministry of Culture) की ओर से भी लोगों को डांस दिवस की बधाई दी गई है। मंत्रालय ने अपने आफिशयल ट्विटर हैंडल के माध्यम से देश के सभी राज्यों में होने वाले अलग-अलग तरह के डांस के तरीकों को दर्शाया है। भारत एक विभिन्न संस्कृतियों वाला देश है। इसके चलते भारत में होने वाले अलग अलग तरह के डांस विश्व भर में अपनी विविधता को लेकर फेमस है, जिसमें कुचिपुड़ी, भरतनाट्यम, भांगड़ा, बिहू और कथक समेत कई अन्य शामिल हैं।

Read Comments

    Post a comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    CAPTCHA
    Refresh