Menu
blogid : 26149 postid : 2518

विश्व की 6 करोड़ आबादी पर लटकी गरीबी की तलवार, विश्वबैंक के खुलासे से चिंता बढ़ी

Rizwan Noor Khan

3 Jun, 2020

कोरोना के कारण मुसीबत झेल रही दुनिया आने वाले दिनों में गरीबी की मार से भी नहीं बच पाएगी। विश्वबैंक के मुताबिक कोरोना की वजह से कमजोर वर्ग के लोग गरीबी के निम्नतम स्तर पर पहुंच जाएंगे। लोगों की आय में बड़ी गिरावट के कारण भारत ही नहीं दुनियाभर में गरीबी के हालात पनपने की आशंका जताई जा रही है। विश्वबैंक के खुलासे से दुनियाभर के विशेषज्ञ चिंता में आ गए हैं।

वैश्विक अर्थव्यवस्था पटरी से उतरी
कोरोना महामारी के कारण दुनियाभर में लॉकडाउन के कारण करीब दो महीने तक सबकुछ ठप रहा है। इस वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था लड़खड़ाई हुई है। हाल के दिनों में कई देशों ने कुछ शर्तों के साथ लॉकडाउन में ढील देते हुए कारोबार की इजाजत दी है। लंबे समय तक कामकाज ठप रहने से लोगों की आमदनी में ​भारी गिरावट दर्ज की गई है।

6 करोड़ लोगों पर गरीबी तलवार
शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार विश्वबैंक ने कहा है कि कोरोना की वजह से दुनियाभर के 6 करोड़ लोग गरीबी के निम्नतम स्तर पर पहुंचने वाले हैं। यह महामारी कमजोर वर्ग को और भी गरीब बना देगी। विकासशील देशों के हालात खराब होने की आशंका ज्यादा जताई गई है।

विकासशील देशों में गरीबी सबसे नीचे जाएगी
विश्वबैंक ग्रुप के अध्यक्ष डेविड मालपास ने कहा है कि कोरोना महामारी के कारण दुनियाभर के विकासशील देशों की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई है। इन देशों के करीब 6 करोड़ लोग गरीबी की मार झेलने को मजबूर हो जाएंगे। उन्होंने आशंका जताई है कि ये लोग गरीबी ​के निम्नतम स्तर पर पहुंच सकते हैं।

विश्वबैंक मदद के लिए चलाएगा ड्राइव
डेविड मालपास ने कहा है कि यह पहली बार है जब गरीबी दूर होने की बजाय बढ़ने की आशंका पैदा हो गई है। उन्होंने कहा कि विकासशील देशों को मजबूत बनाने के लिए विश्वबैंक ड्राइव चलाएगा। इससे गरीबी को दूर करने में इन देशों की मदद की जा सके।…NEXT

Read more:

दौड़ते समय टूटा पैर फिर भी 8 घंटे रेंगकर पहुंचा रेसर, डॉक्‍टरों ने बचा ली जान

एक करोड़ किसानों को बर्बाद कर पाकिस्‍तान पहुंचे लाखों टिड्डे, जहां जाते हैं कोहराम मचाते हैं

विश्‍व के 13 फीसदी लोग क्‍यों मौत के मुहाने पर हैं और 34 करोड़ बच्‍चों की जिंदगी कैसे खतरे में है

टीपू सुल्‍तान ने ऐसा क्‍या किया जो कहलाए फॉदर ऑफ रॉकेट, जानिए कैसे अंग्रेजों के उखाड़ दिए पैर

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *