Menu
blogid : 26149 postid : 3121

कौन है ये भिक्षुक जिसे सैल्यूट कर रहे लोग और तारीफ कर रही सरकार, वायरल हो रहीं तस्वीरें

Rizwan Noor Khan

28 Aug, 2020

कोरोना महामारी के दौर में दुनिया के सामने नजीर पेश करने वाले तमिलनाडु के भिक्षुक को सरकार समेत आम लोग सैल्यूट कर रहे हैं। कोरोना महामारी को हराने के लिए किए गए उनके प्रयासों को हर तरफ सराहना हो रही है। सोशल मीडिया पर वह छाए हुए हैं।

तमिलनाडु के भिक्षुक के वीडियो वायरल
तमिलनाडु राज्य के मदुरै में रहने वाले पूलपांडियन एक भिक्षुक हैं। मूलरूप से वह तूतीकोरिन के रहने वाले हैं। गरीबी के चलते वह भिक्षा मांगकर अपनी जीविका चलाते हैं और जुटाया गया सारा धन समाज के विकास के लिए दान कर देते हैं। पूलपांडियन का कोई स्थाई निवास नहीं है। वह कोरोना महामारी से लड़ने और लोगों की मदद करने के लिए शहरों में भिक्षा मांग रहे हैं।

भिक्षा मांगकर जुटाए 90 हजार डोनेट किए
केंद्र सरकार के सिटीजन इंगेजमेंट प्रोग्राम MyGovIndia के मुताबिक पूलपांडियन ने अलग अलग शहरों से जुटाए गए 90 हजार रुपये राज्य कोरोना रिलीफ फंड में डोनेट कर दिए हैं। शहरों—गांवों में घूम घूमकर जुटाई गई यह रकम उन्होंने मार्च से अब तक डोनेट की है।

Image courtesy : ANI


एजूकेशन के लिए देना चाहते थे रकम

भिक्षुक पूलपांडियन ने 18 मई को मदुरै के जिला कलेक्टर टीजी विनय कुमार को 10 हजार रुपये डोनेट किए थे। तब पूलपांडियन ने कहा था कि वह ​शिक्षा को आगे ले जाने के लिए यह रकम डोनेट करना चाहते थे, लेकिन अब वह इसे कोरोना महामारी से लड़ने के लिए इस्तेमाल करने में दे रहे हैं।

सच्चे समाजसेवी की उपाधि मिली
एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार जिला कलेक्टर टीजी विनय कुमार ने पूलपांडियन को विपरीत परिस्थितियों के बावजूद समाज के विकास के लिए कमाल का काम करने पर उन्हें सच्चा समासेवक बताया। विनय कुमार ने पूलपांडियन को सामाजिक कार्यकर्ता की उपाधि देकर सम्मानित कर चुके हैं। सोशल मीडिया पर पूलपांडियन के वीडियो वायरल हो रहे हैं।


Read more: 
70 साल पहले विलुप्त हो चुका अनोखा एनीमल फिर लौटा, पंजों को पैराशूट बनाकर उड़ता है यह दुर्लभ जीव

एशिया का सबसे अभागा देश जहां बच्चों को जिंदा रहने के लिए बेचने पड़ रहे अपने खिलौने

ऐसा गांव जहां पेड़ों पर लग रही क्लास, टहनियों पर बैठकर पड़ते हैं बच्चे

वैज्ञानिकों ने खोज लिया विश्व का सबसे पुराना बिस्तर, कीड़ों से बचने के तरीके पर दुनिया हैरान

5 हजार साल पुराने दो बर्फ के पहाड़ गायब होने से खलबली, तलाश में जुटी वैज्ञानिकों की टीम

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *