Menu
blogid : 26149 postid : 3158

नवजात बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का इस्तेमाल, सेंसर समेत आधुनिक तकनीक मददगार

Rizwan Noor Khan

2 Sep, 2020

नवजात बच्चों को स्वास्थ्य समस्याओं से बचाने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। इस तकनीक के जरिए बच्चों के सोने और जागने की गतिविधियों को मॉनीटर किया जा रहा है। इसके जरिए बच्चों को बेहतर नींद देने में कामयाबी मिल रही है। दावा है कि इससे उनके स्वास्थ्य को बेहतर करने में मदद मिल रही है।

सोने और जागने के कारणों को मॉनिटर करेगा
रायटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक नवजात बच्चों की नींद की समस्या को खत्म करने के लिए खास तरह का स्मार्ट क्रिब यानी पालना इस्तेमाल किया जा रहा है। इस पालने में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तकनीक के इस्तेमाल से बच्चों के सोने और जागने के कारणों को मॉनीटर किया जाता है।

अच्छी नींद देने में कारगर है स्मार्ट क्रिब
रिपोर्ट के मुताबिक इस पालने को विकसित करने वाली संस्था क्रेडलवाइस के विशेषज्ञों का मानना है कि इस तकनीक के जरिए बच्चों को अच्छी नींद देने में कामयाबी मिल रही है। पालने को बच्चों के लिए पूरी तरह सुरक्षित बनाया गया है। इसमें आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (Artificial Intelligence) तकनीक का इस्तेमाल किया गया है।

सेंसर फॉलो करते हैं ब्रीदिंग और फिजिकल मूवमेंट
तकनीक के इस्तेमाल से बच्चे को लिटाते ही पालना उसे हौले हौले झोंके देना शुरू कर देता है। पालने में लगे खास तरह के सेंसर बच्चे के सोने के पैटर्न को समझकर उसके हिसाब से पालने का एयर और टेंपरेचर सेट कर देते हैं। साथ ही ब्रीदिंग और फिजिकल मूवमेंट से बच्चे की नींद टूटने या नींद पूरी होने को भांप लेते हैं। म्यूजिक भी सेट कर देता है।


स्मार्टफोन ऐप से स्वास्थ्य पर नजर रखना आसान

तकनीक के जरिए नवजात की नींद से जुड़ा सभी तरह का डाटा स्मार्टफोन एप में स्टोर हो जाता है, जिसे अभिभावक देख सकते हैं और उसे फॉलो कर बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जान सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार यह पालना नवजात को अच्छी नींद देकर उसके स्वास्थ्य को बेहतर करने में मदद करता है।

कैलीफोर्निया में इस्तेमाल हो रहा स्मार्ट क्रिब
चिकित्सक मानते हैं कि अगर नवजात बच्चे एक घंटे भी कम सो पाते हैं तो उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। स्मार्ट पालने के इस्तेमाल से समस्या से बचा जा सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक इस स्मार्ट पालने का इस्तेमाल कैलीफोर्निया में शुरू किया गया है। अमेरिका में इस पालने की कीमत करीब 73 हजार रुपये है।…Next

 

Read more: 50 साल से विलुप्त गीत गुनगुनाने वाला डॉग वापस लौटा

नासा के रिटायर टेलीस्कोप से खगोल विज्ञानियों ने 50 नए ग्रह खोजे

पूरे महाद्वीप से खत्म हो गया खतरनाक वायरस पर पाकिस्तान और अफगानिस्तान से नहीं

एशिया का सबसे अभागा देश जहां बच्चों को जिंदा रहने के लिए बेचने पड़ रहे अपने खिलौने

वैज्ञानिकों ने खोज लिया विश्व का सबसे पुराना बिस्तर, कीड़ों से बचने के तरीके पर दुनिया हैरान

5 हजार साल पुराने दो बर्फ के पहाड़ गायब होने से खलबली, तलाश में जुटी वैज्ञानिकों की टीम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *