Menu
blogid : 26149 postid : 2789

कोरोना से फाइट के लिए रेलवे का एक और बड़ा कदम, सस्ते दामों में मास्क और सैनेटाइजर

Rizwan Noor Khan

20 Jul, 2020

 

 

कोरोना महामारी से लोगों को बचाने के लिए भारतीय रेल मंत्रालय लगातार प्रयास कर रहा है। अब रेल विकास प्रा​धिकरण ने रेलवे परिसर में लोगों को मास्क और सैनेटाइजर उपलब्ध कराने के लिए आटोमेटिक वेंडिंग मशीन लगा दी हैं। इन मशीनों से मिलने वाले मास्क, सैनेटाइजर और ग्लव्स की कीमत बेहद कम रखी गई है।

 

 

 

 

स्टेशनों पर लगीं ऑटोमेटिक वेंडिंग मशीन
रेलवे अपने यात्रियों को हर हाल में कोरोना से बचाने के लिए जतन कर रहा है। एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे विकास प्राधिकरण ने चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक पर ऑटोमेटिक वेंडिंग मशीन लगाई है, जिससे निर्धारित रकम डालने के बाद ग्लव्स, सैनेटाइजर और मास्क हासिल किए जा सकते हैं।

 

 

 

 

कम कीमत में मास्क और सैनेटाइजर
एएनआई से बात करते हुए एरिया मैनेजर दीपक ने बताय कि यह मशीन 5 दिन पहले लगी है। हम यात्रियों को कम कीमत पर मास्क, सैनिटाईजर और गल्वज उपलब्ध करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह की मशीन हमने बिहार में भी लगाई हैं। जहां लोग निर्धारित रकम मशीन में डालकर और संबंधित वस्तु को सेलेक्ट कर इसे हासिल कर सकते हैं।

 

 

 

 

 

बिहार में 100 मशीनें लगाने की तैयारी
रिपोर्ट के मुताबिक बिहार के दानापुर डिवीजन में 100 वेंडिंग मशीनें लगाने की तैयारी चल रही है। इसके अलावा देश के अन्य इलाकों के रेलवेस्टेशनों पर इस तरह आटोमेटिक वेंडिंग मशीनें लगाई जा रही हैं। खास बात ये है कि इन मशीनों के जरिए मिलने वाले मास्क, ग्लव्स या सैनेटाइजर उच्च क्वालिटी के होंगे।

 

 

 

 

 

11 लाख के पार हो चुके हैं पॉजिटिव मामले
गौरतलब है कि देश में हर दिन कोरोना संक्रमण के मामले रिकॉर्ड तोड़ते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटों में रिकॉर्ड 40 से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए हैं। इतनी बड़ी संख्या में एक दिन में इससे पहले कभी संक्रमित मरीज नहीं मिले हैं। देश में कुल कोरोना संक्रमित मामलों की संख्या 11 लाख के पार पहुंच गई है।…NEXT

 

 

 

 

Read more:

 

अश्लील वीडियो देखते हैं तो हो जाएं सावधान, खतरनाक बीमारी की चपेट में आ रहे लोग, रिसर्च में खुलासा

मधुमक्खियों में फैल रही महामारी, रिसर्च में खुलासा- खतरे में हैं दुनियाभर की मधुमक्खियां

दूषित भोजन दे रहा 200 से ज्यादा बीमारियां, कई तो कोरोना से भी खतरनाक

6 करोड़ लोगों पर लटकी गरीबी की तलवार, विश्वबैंक के खुलासे से दुनियाभर में चिंता बढ़ी

35 देश अपने ही बच्चों के भविष्य के लिए खतरा बने, अफगानिस्तान समेत एशिया के कई देश लिस्ट में

पाकिस्तान से 30 साल बाद रिहा होगा एशियाई हाथी, जनरल जियाउल हक को गिफ्ट में मिला था

 

 

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *