Menu
blogid : 26149 postid : 3073

विश्व की सबसे बड़ी मछलियां इस देश के पानी में क्यों जमा हो रहीं, पहले कभी ऐसा नहीं हुआ

Rizwan Noor Khan

25 Aug, 2020

 

 

 

दुनियाभर में ह्वेल शार्क से बड़ी कोई दूसरी मछली नहीं है। यह मछली आमतौर पर छोटे ग्रुप में रहना पसंद करती है, लेकिन हाल ही में सैंकड़ों की संख्या में इन विशालयकाय मछलियों के झुंड को एक साथ इकट्ठा होते देखा जा रहा है। ऐसी घटना पहले कभी नहीं हुई है। जीव विज्ञानी इस अद्भुद घटना के पीछे की वजहों को जानने के लिए रिसर्च में जुट गए हैं।

 

 

Image courtesy : Al Zazeera

 

 

कतर के समुद्र में इकट्ठा हुईं सबसे बड़ी मछलियां
अलजजीरा की रिपोर्ट के अनुसार मध्यपूर्व के देश कतर के समुद्री पानी में सैकड़ों की संख्या में प्लैनेट की सबसे बड़ी मछली ह्वेल शार्क एक साथ देखी जा रही हैं। अनुमान के अनुसार इन की संख्या 400 के करीब है। ऐसा पहली बार है जब इतनी बड़ी संख्या में ह्वेल शार्क कतर के समुद्री इलाके में विचरण करती दिखी हो।

 

 

Image courtesy : Al Zazeera

 

 

जीव विज्ञानियों ने इसे अद्भुद घटना बताया
जीव विज्ञानियों के अनुसार आमतौर यह मछली 3 से लेकर 20 के ग्रुप में रहती है। लेकिन, कतर के समुद्री पानी में इनकी अधिक संख्या ने जीव विज्ञानियों को कारण पता करने के लिए मजबूर कर दिया है। जीव विज्ञानी इन मछलियों के इकट्ठा होने को अद्भुद घटना बता रहे हैं। मछलियों में हुए इस परिवर्तन को जानने के लिए रिसर्च शुरू कर दी है।

 

 

Image courtesy : Al Zazeera

 

 

पहली बार एक साथ तस्वीर में दिखीं 350 ह्वेल शार्क
ह्वेल शार्क रिसर्च प्रोजेक्ट के हेड मोहम्मद अल जैदा के मुताबिक ड्रोन कैमरे से ली गई एक तस्वीर में 350 से ज्यादा ह्वेल शार्क को देखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि यह पहली बार है कि जब कतर कोस्ट की एक तस्वीर में इतनी बड़ी संख्या में दुनिया की सबसे बड़ी मछलियां कैद हुई हों।

 

 

Image courtesy : Al Zazeera

 

 

पानी का तापमान और भोजन हो सकती है वजह
मोहम्मद अल जैदा ने बताया कि कतर के जिस समुद्री पानी में ह्वेल शार्क हैं वहां का तापमान उनके लिए सबसे मुफीद है। वह बताते हैं कि ह्वेल शार्क के इतनी बड़ी संख्या में यहां जुटने का एक कारण यह भी हो सकता है। यहां के पानी में ह्वेल शार्क के अंडों के विकसित होने के लिए पर्याप्त मात्रा में भोजन उपलब्ध है।

 

 

 

 

ह्वेल शार्क के व्यवहार जीवनशैली पर रिसर्च शुरू
ह्वेल शार्क के विचरण के लिए यहां के पानी का तापमान समेत कई अन्य बिंदु अनुकूल हैं। शायद यही वजह है कि यहां एक साथ इतनी बड़ी संख्या में यह मछलियां विचरण कर रही हैं। उन्होंने कहा कि कई टीम मछलियों के व्यवहार और जीवनशैली में आए परिवर्तन को जानने के लिए अध्ययन में जुटी हुई हैं।…NEXT

 

 

 

Read more:

70 साल पहले विलुप्त हो चुका अनोखा एनीमल फिर लौटा, पंजों को पैराशूट बनाकर उड़ता है यह दुर्लभ जीव

एशिया का सबसे अभागा देश जहां बच्चों को जिंदा रहने के लिए बेचने पड़ रहे अपने खिलौने

ऐसा गांव जहां पेड़ों पर लग रही क्लास, टहनियों पर बैठकर पड़ते हैं बच्चे

ऐसी साइकिल जिसके पीछे दुनिया पागल है, जानें 4 महीने में बनी खास साइकिल की विशेष बातें

वैज्ञानिकों ने खोज लिया विश्व का सबसे पुराना बिस्तर, कीड़ों से बचने के तरीके पर दुनिया हैरान

5 हजार साल पुराने दो बर्फ के पहाड़ गायब होने से खलबली, तलाश में जुटी वैज्ञानिकों की टीम

 

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *