Menu
blogid : 26149 postid : 3234

आसमान में उड़ते हुए मरकर गिर रहे प​क्षी, 30 दिन में दर्जनों पक्षियों की मौत से जीवविज्ञानी हैरान

Rizwan Noor Khan

17 Sep, 2020

एक देश से दूसरे देश की सैर पर निकलने वाले दुर्लभ प्रजाति के माइग्रेटरी पक्षियों की जान खतरे में है। वह आसमान में उड़ान के दौरान बेहोश होकर जमीर पर गिर रहे हैं। इससे करीब 30 दिन के अंदर दर्जन भर से ज्यादा दुर्लभ पक्षियों की मौत हो चुकी है। जीव विज्ञानी पक्षियों की मौत की असल वजह का पता लगाने में जुटे हैं। जबकि, कुछ वैज्ञानिकों ने इसकी वजह क्लाइमेट चेंज और वायु प्रदूषण को माना है।

Image courtesy : Earther & Getty

दुर्लभ प्रजातियों के जीवन पर संकट
अर्थर की रिपोर्ट के मुताबिक मौसम बदलने के साथ नए देश में ठिकाने और प्रजनन के लिए पलायन करने वाले पक्षियों की कई दुर्लभ प्रजातियों पर संकट गहरा गया है। जीव विज्ञानियों का मानना है कि क्लाइमेट चेंज इसकी मुख्य वजह है। क्योंकि क्लाइमेट चेंज की वजह से पश्चिमी अमेरिका के जंगलों में लगी आग का धुआं आसमान में फैला है और मौसम भी गर्म है जो पक्षियों के लिए जहर का काम कर रहा है।

अमेरिका बाहरी इलाकों में मिल रहे मृत पक्षी
कॉर्नवेल यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स के मुताबिक अमेरिका के मेक्सिको, टेक्सास, अरिजोना, कोलाराडो और नेबरास्का के जंगली इलाकों के आसमान में यह धुआं फैला हुआ है। इससे इलाके का मौसम भी पक्षियों के हिसाब से ज्यादा गर्म है। गर्मी और धुएं के कारण कई दुर्लभ माइग्रेटरी प्रजातियों के पक्षी आसमान में उड़ते समय एयर पॉल्यूशन से बेहोश होकर सूखे और रेतीले इलाकों में गिर जा रहे हैं। गिरने के कुछ समय बाद इनकी मौत हो जा रही है।

क्लाइमेट चेंज से उपजा धुआं बना जहर
नेचर पर काम करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था गिजमोडो अर्थर ने पक्षियों की मौतों पर विस्तृत रिपोर्ट जारी की है। जीव विज्ञानियों के मुताबिक एयर पॉल्यूशन पक्षियों के शरीर में हल्के जहर की तरह काम कर रहा है जो एक या दो दिन तक पक्षी को जीवित रखता है पर सूखा इलाका होने के चलते खाना नहीं मिलने की वजह से पक्षी मौत के आगोश में चले जाते हैं।

Image courtesy : Earther Twitter

अगस्त के आखिरी दिनों से मरने की शुरुआत
रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त के आखिरी दिनों से लेकर अब तक यानी तकरीबन 30 दिनों में दर्जनों की संख्या में दुर्लभ प्रजाति के माइग्रेटरी पक्षी एयर पॉल्यूशन से मर चुके हैं। यह संख्या दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। मेक्सिको के गेम और फिश विभाग के प्रवक्ता ट्रिस्टन्ना बिकफोर्ड के मुताबिक आसमान गिरने वालें पक्षियों के व्यवहार में अजीब परिवर्तन देखा जा रहा है।

पक्षियों के व्यवहार में अजीब परिवर्तन
ट्रिस्टन्ना बिकफोर्ड ने बताया कि कुछ पक्षियों में खाना नहीं खाने, नींद में रह​ते हुए देखा जा रहा है। इस वजह से यह पक्षी समय से पहले ही जमीन पर या तो गिर जा रहे हैं या उतर रहे हैं और अपने व्यवहार के विपरीत पेट भरने के लिए जमीन पर ही कीड़े मकौड़े तलाश करते दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि इलाके में कई पक्षियों को मृत पाया गया है।…NEXT

 

Read more:  120 करोड़ लोगों पर मंडरा रहा घर छोड़ने का संकट

ऐसा गांव जहां पेड़ों पर लग रही क्लास, टहनियों पर बैठकर पड़ते हैं बच्चे

50 साल से विलुप्त गीत गुनगुनाने वाला डॉग वापस लौटा

नासा के रिटायर टेलीस्कोप से खगोल विज्ञानियों ने 50 नए ग्रह खोजे

पूरे महाद्वीप से खत्म हो गया खतरनाक वायरस पर पाकिस्तान और अफगानिस्तान से नहीं

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *