Menu
blogid : 26149 postid : 4012

साइबेरिया की बर्फीली गुफा में 28 हजार साल से दबा शेर मिला, आश्चर्य में जीव विज्ञानी

हमेशा बर्फ से ढंके रहने वाले साइबेरियन आर्कटिक की एक बर्फ्रीली गुफा में 28 हजार साल से बर्फ में जमा हुआ मृत शेर का बच्चा मिला है। गुफा की गहराई में मिला यह मरा हुआ बच्चा ऐसे जान पड़ता है जैसे सो रहा है और छूने पर तुरंत जाग उठेगा। इतने लंबे वक्त बाद भी शरीर के संरक्षित रहने पर जीव विज्ञानी आश्चर्य में हैं।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 6 Aug, 2021

 

Image courtesy- Love Dalén/CNN

 

बर्फीली गुफा में मिले थे दो शावक
रूस का साइबेरिया दुनिया के सबसे बर्फीले इलाकों में से एक है। यहां साल 2017 और 2018 में सेम्यूलेख नदी के किनारे शिकारियों को एक गुफा में शेर के मरे हुए दो शावक मिले थे, जो बर्फ में एक-दूसरे से करीब 15 मीटर की दूरी पर दबे हुए थे। तब माना जा रहा था कि दोनों शावक भाई-बहन होंगे। लेकिन, ताजा अध्ययन में दोनों की उम्र में करीब 15 हजार वर्ष का अंतर पाया गया।

उम्र में 15 हजार साल का अंतर
सेम्यूलेख नदी के इलाके में हिमयुग के दौरान बिग कैट रहा करती थीं। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार बर्फीली गुफा में मरे मिले दोनों शावक में एक का नाम स्पार्टा रखा गया और एक का बोरिस। फीमेल शावक स्पार्टा के नमूने का अध्ययन कर रहे विज्ञानियों ने उम्र की जांच के लिए रेडियो कार्बन डेटिंग मैथड को अपनाया, जिसमें पता चला कि बोरिस शावक की मौत स्पार्टा से 15 हजार साल पहले हुई थी।

शरीर ऐसे संरक्षित कि सो रही हो
स्वीडन के स्टॉकहोम के जेनेटिक्स इंस्टीट्यूट के प्रोफेसर लव डालेन शावकों के नमूने पर अध्ययन कर रहे हैं। उनके अध्ययन में खुलासा हुआ है कि स्पार्टा नाम की फीमेल शावक की करीब 28 हजार साल पहले बर्फीली गुफा में मौत हुई होगी। हिमयुग के दौरान मरे जीवों के मिले अवशेषों में स्पार्टा का शरीर अबतक का सबसे संरक्षित पाया गया है।

1-2 माह की उम्र में मौत का अनुमान
अध्ययन में बताया गया है कि दोनों शावकों की मौत 1 या 2 महीने की उम्र में हुई होगी। जब स्पार्टा शावक मिली थी तब उसका शरीर इतना संरक्षित था कि मानो वह सो रही हो। हालांकि, सारे अंग ममी बन चुके थे। विज्ञानियों के अनुसार स्पार्टा के फर और मूछें मौजूद थीं। यहां तक कि उसके पैरों के नाखून भी बरकरार थे। ऐसा लग रहा था जैसे छूने पर स्पार्टा शावक जाग उठेगी।

 

Image courtesy- Love Dalén/CNN

 

शवकों की टूटी हुई हैं पसलियां
प्रोफेसर लव डालेन के मुताबिक शावकों की मौत की वजह अभी साफ नहीं हो सकी है। जांच में ऐसे कहीं भी संकेत नहीं मिले हैं कि उन्हें किसी शिकारी या हिंसक जानवर द्वारा मारा गया हो। कंप्यूटर टेमोग्राफी स्कैन में पता चला है कि शावकों का कंकाल डैमेज है, पसलियां टूटी हुई हैं। शरीर पर मिट्टी और कीचड़ के अवशेष मिलने पर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि शायद भूस्खलन में वह दबकर बर्फ में जम गए हों।…Next

 

 

 

 

Read more: 

फ्लाइंग कार का ख्वाब पूरा, 35 मिनट में एक से दूसरे शहर पहुंची

50 साल खुदाई के बाद मिला दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा हीरा

ये है दुनिया का सबसे बड़ा परिवार, फैमिली में 181 सदस्य

रोबोट सोफिया की पेंटिंग ने नीलामी के रिकॉर्ड तोड़े

सबसे ज्यादा विश्व की ऐतिहासिक धरोहरें इस देश में, जानें

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *