Menu
blogid : 26149 postid : 1227

मुकेश अंबानी के बच्चे 5 रूपए पॉकेटमनी लेकर जाते थे स्कूल, पत्नी नीता को रेड लाइट पर कार रोककर किया था प्रपोज

Pratima Jaiswal

19 Apr, 2019

बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जिन्हें जिंदगी में वो सबकुछ मिल पाता है जिसकी वो कल्पना करते हैं। मुकेश अंबानी एक ऐसा ही नाम है। जिनकी कहानी किसी फिल्मों से कम नहीं है। फोर्ब्स लिस्ट में दुनिया के सबसे लोगों में शामिल मुकेश अंबानी अपने बिजनेस की वजह से हमेशा चर्चा में रहते हैं। आज मुकेश का जन्मदिन हैं, वो अपना 62वां जन्मदिन बना रहे हैं। आइए, जानते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ी खास बातें।

 

 

अपने पिता धीरूभाई अंबानी की इस बात को हमेशा याद रखते हैं मुकेश
रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन मुकेश अंबानी अपने पिता धीरूभाई अंबानी की ये बात हमेशा याद रही है कि यह वर्ल्ड सिर्फ आइडिया के दम पर भी आगे बढ़ता है। पहले सिर्फ सरकारें समाज में बदलाव लाती थीं, फिर कारोबारियों ने बदलाव शुरू किया और अब यह काम स्टॉर्टअप कर रहे हैं। यानी एक छोटा आइडिया भी आपकी डेली रूटीन लाइफ से लेकर दूनिया को बदलने का माद्दा रखता है।

 

 

आलीशान लाइफस्टाइल लेकिन बचपन में 5 रुपए की पॉकेटमनी से ज्यादा नहीं
बहुत से लोगों को लगता होगा कि दुनिया के अरबपतियों में शामिल मुकेश अंबानी के बच्चों का बचपन फिजूलखर्ची में बीता होगा या उन्होंने पानी की तरह पैसे बहाए होंगे लेकिन ऐसा नहीं है।  एक मीडिया इंटरव्यू में मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी ने बताया था कि ‘जब मेरे बच्चे स्कूल जाते थे तो मैं उनको हर शुक्रवार 5 रुपये देती थी। जिससे वो स्कूल कैंटीन में खाना खाते थे। एक वक्त की बात है जब मेरा बेटा अनंत दौड़ कर मेरे पास आया और बोला कि 10 रुपये चाहिए। जब मैंने सवाल पूछा क्यों तो वो बोला- स्कूल के दोस्त मेरा मजाक उड़ाते हैं। कहते है सिर्फ 5 रुपये लाता है। तू अंबानी है या भिखारी।’ ये सुनकर मुझे बुरा नहीं लगा, क्योंकि मुकेश अंबानी ने पैसे बचाने की कला अपने पिता से ली है। जिससे वो कामयाब भी हुए और वो चाहते हैं ये कला उनके बच्चे भी सीखें। इसलिए नीता ने बच्चों को कम में ज्यादा का पाठ पढ़ाया। नीता ने यह भी कहा- ‘मैं अपने बच्चों को आम बच्चों की तरह ही रखना चाहती थी। इसलिए मैंने कभी उन्हें अमीर होने का एहसास नहीं कराया।’

 

 

फिल्मों जैसी है मुकेश-नीता की लवस्टोरी
उस वक्त नीता सिर्फ 20 साल की थीं और मुकेश 21 के। मुकेश अंबानी के पिता धीरूभाई अंबानी को नीता बहुत पसंद थीं । उन्होंने नीता को अपने घर की बहू बनाने के बारे में सोच लिया था । नीता और मुकेश ने एक-दूसरे से मुलाकात की। एक बार नीता और मुकेश कार में कहीं जा रहे थे। उसी समय मुकेश ने नीता से पूछा- क्या तुम मुझसे शादी करोगी । कार रेड सिग्नल पर रुकी हुई थी । मुकेश ने कहा कि मैं ये कार तब तक आगे नहीं बढ़ाऊंगा जब तक तुम जवाब नहीं देती। पीछे की सारी गाडि़यां हॉर्न पर हॉर्न बजाए जा रही थीं लेकिन मुकेश अंबानी, नीता के जवाब का इंतजार कर रहे थे । नीता ने कुछ देर बाद मुकेश अंबानी को हां बोला और तब मुकेश ने कार आगे बढ़वाई।
इसके बाद नीता ने मुकेश से पूछा कि अगर मैं ना कहती तो क्या तुम मुझे कार से उतार देते । तब मुकेश ने कहा, ‘नहीं, मैं ऐसा कभी नहीं करता। मैं तुम्हें घर छोड़कर आता ।’ इसके बाद मुकेश और नीता की शादी हुई।…Next

 

Read More :

इथोपिया प्लेन क्रैश : 2 मिनट की देरी ने बचा ली इस शख्स की जान, फेसबुक पोस्ट पर बयां की बचने की कहानी

International Women 039  Day 2019 : महिला होने के नाते पता होने चाहिए अपने ये 10 कानूनी अधिकार

WhatsApp पर आपकी मर्जी बिना कोई नहीं कर सकता ग्रुप में एड, इस नम्बर पर मैसेज करके खुद करें फेक न्यूज चेक

 

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *