Menu
blogid : 26149 postid : 1272

भारतीय सेना ने सोशल मीडिया पर शेयर की ‘हिममानव’ से जुड़ी तस्वीरें, जानें कौन है हिममानव येती

Pratima Jaiswal

30 Apr, 2019

आपने स्कूल की किताबों में ‘हिममानव’ के बारे में पढ़ा होगा। ज्यादातर लोग हिममानव को कल्पना मानते हैं। वहीं, कुछ लोग ऐसे भी हैं जो उसके अस्तित्व से इंकार नहीं करते। भारतीय सेना ने पहली बार हिममानव ‘येती’ की मौजूदगी को लेकर कुछ सबूत पेश किए हैं। इस संबंध में ट्विटर पर कुछ तस्वीरें शेयर की गई हैं जिसमें बर्फ पर पैरों के बड़े निशान नजर आ रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि ये निशान हिममानव ‘येती’ के हो सकते हैं।
ऐसे में सभी के मन में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर कौन है येती हिममानव और इतने सालों से वो कैसे जिंदा है?

 

 

कौन है हिममानव येती
दुनिया के सबसे रहस्यमयी प्राणियों में से एक ‘येती’ की कहानी लगभग सौ साल पुरानी है। कई बार इन्हें देखे जाने की खबरें भी आ चुकी हैं। लद्दाख के कुछ बौद्ध मठों ने दावा किया था कि हिममानव ‘येती’ उन्होंने देखे हैं। वहीं शोधकर्ताओं ने येती को मनुष्य नहीं बल्कि ध्रुवीय और भूरे भालू की क्रॉस ब्रीड यानी संकर नस्ल बताया है। कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि येती एक विशालकाय जीव हैं, जिसकी शक्लोसूरत तो बंदरों जैसी होती है, लेकिन वह इंसानों की तरह दो पैरों पर चलता है। इसे देखे जाने के रोमांचक किस्से अक्सर सुने जाते रहे हैं। हालांकि इसे लेकर वैज्ञानिकों में भी एकमत नहीं हैं।

 

भारतीय सेना ने ट्वीट में दी जानकारी
सेना के जन सूचना विभाग की तरफ से किए गए ट्वीट में कहा गया है,’पहली बार भारतीय सेना की एक पर्वतारोही टीम ने मकालू बेस कैंप के करीब 32×15 इंच वाले रहस्यमयी हिममानव ‘येती’ के पैरों के निशान देखे हैं। यह मायावी स्नोमैन इससे पहले केवल मकालू-बरुन नेशनल पार्क में देखा गया है।’भारतीय सेना द्वारा शेयर की गई इस तस्वीर के बाद सोशल मीडिया पर येती के बारे में चर्चा शुरू हो गई है।…Next

 

Read More :

जिन लोगों के लिए 16 सालों तक अनशन पर रही इरोम शर्मिला, वही उनकी प्रेम कहानी के ‘विलेन’ बन गए

चुनावी रैली में घुस आए सांड ने मचाया उत्पात, आंधे घंटे तक हवा में चक्कर काटता रहा अखिलेश का हेलीकॉप्टर : देखें वीडियो

Avengers Endgame: गूगल पर Thanos चुटकी में गायब कर रहा है सर्च रिजल्ट, आप खुद ट्राई करके देख लीजिए

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *