Menu
blogid : 26149 postid : 3057

एशिया का सबसे अभागा देश जहां बच्चों को जिंदा रहने के लिए बेचने पड़ रहे अपने खिलौने

Rizwan Noor Khan

21 Aug, 2020

 

 

शिया में सबसे ज्यादा मुसीबत में इन दिनों सीरिया देश के बच्चे हैं। यह हम नहीं बल्कि आंकड़े बता रहे हैं। सीरिया वह अभागा देश है जहां के बच्चे अपना पेट भरने और जिंदा रहने के लिए अपने प्यारे खिलौने तक बेचने को मजबूर हैं। पिछले 9 सालों से गृहयुद्ध झेल रहे सीरिया में बच्चों की जिंदगी हर बीतते दिन के साथ मुश्किल भरी होती जाती है।

 

 

Image courtesy : UNICEF

 

 

सीरिया के 50 लाख बच्चों की जिंदगी मुश्किल में
अलजजीरा की रिपोर्ट के अनुसार सीरिया में बच्चों के लिए हालात बेहद खराब होते जा रहे हैं। यहां के इदलिब इलाके में विस्थापित बच्चों पर कहर टूट पड़ा है। बच्चों को अपना और परिवार का पेट भरने के लिए अपने खिलौनों का सौदा करना पड़ रहा है। यहां 50 लाख ऐसे बच्चे हैं जिनको तत्काल मानवीय सहायता की जरूरत है।

 

 

 

Image courtesy : Al Zazeera

 

 

26 लाख बच्चों का घर और गांव छूट गया
रिपोर्ट के अनुसार यहां 26 लाख ऐसे बच्चे हैं जिनका घरबार छूट गया है और वह अपने परिजनों के साथ रहने के लिए अच्छी जगह की तलाश में भटक रहे हैं। इन लोगों के पुश्तैनी घर और गांव गृहयुद्ध की चपेट में आकर तबाह हो गए। ज्यादातर बच्चे अपनी मां, पिता या फिर किसी करीबी को खो चुके हैं।

 

 

Image courtesy : Al Zazeera

 

 

भोजन के लिए बचने पड़ रहे खिलौने
इदलिब के ग्रामीण इलाके में विस्थापित 3 बच्चे अपने माता पिता और खुद का पेट भरने के लिए अपने खिलौनों को बेच रहे हैं। 10 साल की दारा बताती हैं कि बमबारी और हवाई हमलों के चलते उनके घर तबाह हो गए। जब वह विस्थापित होकर इदलिब के ग्रामीण इलाकों में आए तो एक जोड़ी कपड़े और कुछ खिलौनों के सिवा उनके पास कुछ नहीं था।

 

Image courtesy : Al Zazeera

 

 

दर्दनाक है 10 साल की दारा की कहानी
दारा कहती हैं कि अपने दो भाइयों और पिता के साथ एक क्षतिग्रस्त मकान में मलबे के बीच रहती है। क्योंकि उनके पिता बुरी तरह जख्मी हैं और वह अभी काम करने की स्थिति में नहीं हैं। ऐसे में वह अपने खिलौने बेचने को मजबूर हैं। रिपोर्ट के अनुसार हालात इतने खराब हैं कि खरीदने वालों के इंतजार में पूरा दिन निकल जाता है लेकिन खरीदार नहीं दिखता।

 

 

 

 

हर 10 घंटे में हिंसा का शिकार हो जाता है एक बच्चा
यूनीसेफ के अनुसार सीरिया में हिंसा का सबसे ज्यादा शिकार यहां के बच्चे हो रहे हैं और उनके जीवन पर इसका बुरा असर पड़ रहा है। आंकड़े बताते हैं कि हर 10 घंटे में एक बच्चा हिंसा की चपेट में आकर अपनी जान गवां देता है। सीरिया में 28 लाख ऐसे बच्चे हैं जिनका स्कूल पूरी तरह छूट चुका है।…NEXT

 

 

 

Read more:

ऐसा गांव जहां पेड़ों पर लग रही क्लास, टहनियों पर बैठकर पड़ते हैं बच्चे

ऐसी साइकिल जिसके पीछे दुनिया पागल है, जानें 4 महीने में बनी खास साइकिल की विशेष बातें

वैज्ञानिकों ने खोज लिया विश्व का सबसे पुराना बिस्तर, कीड़ों से बचने के तरीके पर दुनिया हैरान

5 हजार साल पुराने दो बर्फ के पहाड़ गायब होने से खलबली, तलाश में जुटी वैज्ञानिकों की टीम

दुनिया के सबसे बहादुर चिंपैंजी ने ‘ग्रेजुएशन’ पूरा किया, अनोखी खूबी वाला इकलौता एनीमल

आधुनिक इतिहास की सबसे बड़ी पशु त्रासदी, एक साल के अंदर 300 करोड़ जानवरों की जिंदगी तबाह

मधुमक्खियों में फैल रही महामारी, रिसर्च में खुलासा- खतरे में हैं दुनियाभर की मधुमक्खियां

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *