Menu
blogid : 26149 postid : 2683

हैंडवॉश मशीन बनाने वाले 9 साल के बच्चे को प्रेसीडेंशियल अवॉर्ड, ​दुनियाभर में हो रही टैलेंट की तारीफ

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 2 Jul, 2020

 

 

कोरोना महामारी के दौर में लोगों को सफाई पर ध्यान देने की बात विश्व स्वास्थ्य संगठन समेत दुनियाभर की सरकारें कह रही हैं। इसके लिए हाथ—पैरों को सैनीटाइज करने की अपील भी की गई। केन्या के 9 साल के बच्चे ने बिना छुए हाथ साफ करने वाली हैंडवॉश मशीन बनाकर दुनियाभर में छा गया है। इस कारनामे पर उसे केन्या के प्रतिष्ठित प्रेसीडेंशियल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है।

 

 

 

 

 

 

यूनीसेफ ने बच्चे की सराहना की
यूनीसेफ के मुताबिक केन्या के ​9 वर्षीय स्टीफेन ने दुनिया को इंस्पायर करने वाला काम किया है, जिसके लिए उसे राष्ट्रपति से सम्मान हासिल हुआ। रिपोर्ट के मुताबिक अफ्रीका रीजन के केन्या में महामारी ने बड़ी तादाद में लोगों को अपनी चपेट में ले रखा है। केन्या में अब तक 6,673 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं। जबकि, 149 लोगों की कोरोना की चपेट में आकर मौत हो चुकी है।

 

 

 

 

 

केन्या सरकार ने प्रेसीडेंशियल अवॉर्ड से नवाजा
महामारी से बचाव का प्रयास कर रही केन्या सरकार ने 9 साल के स्टीफेन को कम उम्र में बड़ा और राष्ट्रहित में काम करने पर उसे प्रतिष्ठित प्रेशीडेंशियल अवॉर्ड सम्मानित किया है। स्टीफेन को मिलाकर यह प्रतिष्ठित अवॉर्ड अब तक 68 लोगों को प्रदान किया जा चुका है। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार स्टीफेन वामुकोता को हैंडवॉश मशीन बनाकर लोगों को कोरोना से बचाने के लिए प्रयास करने के लिए सम्मान हासिल हुआ है। स्टीफेन ने बीबीसी को बताया कि वह अवॉर्ड हासिल कर बहुत खुश है।

 

 

 

 

लकड़ी से बनाई हैंडवॉश मशीन
रिपोर्ट के अनुसार स्टीफेन ने बताया कि उसने दो हैंडवॉश मशीनें बनाई हैं और अभी ढेरों मशीनें वह बनाना चाहता है। स्टीफेन ने हैंडवॉश मशीन को लकड़ी से बनाया है। मशीन के तौर पर लकड़ी के ढांचे पर पानी से भरी बाल्टी रखी जा सकती है और बाल्टी से जोड़कर सैनेटाइजर या हैंडवॉश शैंपू भी फिट किया जा सकता है। इस मशीन को हाथ से छुए बिना पैडल मारकर चला जाता है। इससे कोरोना के संक्रमण का खतरा कम हो जाता है।

 

 

 

 

 

इंजीनियर बनने के लिए स्कॉ​लरशिप मिलेगी
पश्चिमी केन्या के बंगोमा काउंटी इलाके के मुकवा गांव में रहने वाले स्टीफेन को लकड़ी की हैंडवॉश मशीन बनाने का आइडिया टीवी देखते समय आया। स्टीफेन ने बताया कि वह बड़े होकर इंजीनियर बनना चाहता है। स्टीफेन के पिता जेम्स वामुकोता ने बताया कि बेटे की मशीन को उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर किया था और देखते ही देखते वह पोस्ट वायरल हो गई। उन्होंने बताया कि काउंटी के गवर्नर ने बेटे को स्कॉलरशिप देने का वादा भी किया है।…NEXT

 

 

 

Read more:

कोरोना के चलते हरी सब्जियों की मांग बढ़ी, WHO ने कहा- इम्यूनिटी बढ़ाने का बेस्ट ऑप्शन

6 करोड़ लोगों पर लटकी गरीबी की तलवार, विश्वबैंक के खुलासे से दुनियाभर में चिंता बढ़ी

35 देश अपने ही बच्चों के भविष्य के लिए खतरा बने, अफगानिस्तान समेत एशिया के कई देश लिस्ट में

लॉकडाउन में बेटे को सब्जी लेने भेजा तो बीवी लेके लौटा, जानिए फिर क्या हुआ

पाकिस्तान से 30 साल बाद रिहा होगा एशियाई हाथी, जनरल जियाउल हक को गिफ्ट में मिला था

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *