Menu
blogid : 12914 postid : 44

खिलाड़ियों का ‘खेल’

लगे तो लगे
लगे तो लगे
  • 32 Posts
  • 31 Comments

खिलाड़ियों का भी खेल निराला है… बात क्रिकेट की मैदान की हो, फुटबाल के मैदान या फिर बॉक्सिंग के रिंग की हर जगह अच्छे प्रदर्शन के बाद उनके चाहने वाले उन्हें सिर माथे पर तो बिठा ही लेते हैं साथ ही नये-नये जो खेल देखते है या इंट्रेस्ट जगाने की कोशिश करते है उनके एक सटीक प्रदर्शन पर तालियां बजा उनका स्वागत करते हैं…. बात चाहे नये खिलाड़ियों की हो या पुराने खिलाड़ियों की… तभी तो विज्ञापन जगत से लेकर सराकरी मंत्रालय तक इनपर विश्वास करते हैं और इनके बूते अपनी बातों को जनता तक पहुंचाते हैं…. दरअसल इनका मानना होता है कि ये खिलाड़ी सिर्फ मैदान के ही खिलाड़ी नहीं बल्कि जनता के भी भावनाओं के खिलाड़ी है… ये जो कहेंगे या करेंगे जनता और उनके फैंस उनपर आंख मूंदकर विश्वास करेंगे… किसी शीतलपेय बेचने की बात हो या किसी सामाजिक कुरीतियों को दूर करने की इनका सहारा ही काफी होता है…. इन्हें बेचने और इनके निवारण के लिए….. खैर ये तो सभी को पता है…. मुद्दे की बात करते हैं… जब इनपर जनता का इतना विश्वास होता है तो फिर ये क्यों ऐसे विवादों में फंस जाते हैं कि जनता को खासकर इनके चाहने वालों का भी इनपर से भरोसा उठ जाता है…. ताजा मामला स्टार बॉक्सर विजेंद्र सिंह का है… जिन्हें भारत में किसी स्टार से कम नहीं आंका जाता…. विजेंद्र की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि फिल्म अभिनेत्री बिपाशा बासु तक का नाम विजेंद्र के साथ जोड़ा गया.. ताजा मामले में विजेंद्र और उनके साथी राम सिंह पर ड्रग्स लेने का आरोप है… राम सिंह तो इस मामले में पहले ही स्वीकार कर चुके हैं कि विजेंद्र और वो साथ ड्रग्स लेते हैं… मुझे ठीक से याद है तो शायद यह पहला मौका है जब इतने बड़े स्टार के समर्थन में कोई भी अन्य स्टार नहीं उतरा… अब विजेंद्र के उपर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है…. ड्रग्स मामले में विजेंद्र कभी भी गिरफ्तार किये जा सकते हैं… और उनसे पूछताछ की जा सकती है… हालांकि इससे पहले विजेंद्र ने मामले में पुलिस और जांच टीम को हर संभव मदद का भरोसा दिया था… तो ये बात तो विजेंद्र की थी… इससे पहले भी इस तरह के मामले में कई अन्य खिलाड़ी फंस चुके है और सजा भी भुगत चुके है….. इनमें मुझे श्रीलंकाई खिलाड़ी सनत जयसूर्या का नाम याद है… जो 1996 के क्रिकेट विश्व कप में इस तरह के मामले में फंसे थे…. इनके अलावा भारतीय क्रिकेट की बात करें तो हाल ही में एक रेव पार्टी में भारतीय क्रिकेट के उभरते खिलाड़ी राहुल शर्मा का नाम आया था… राहुल के मामले में तो पुष्टी भी हो गई थी कि उन्होंने पार्टी में ड्रग्स का सेवन किया था… हालांकि राहुल ने इस मामले से किनारा करते हुए कहा था कि मैंने जिंदगी में कभी नशा नहीं किया अगर आरोप साबित हो जाता है तो वो क्रिकेट को अलविदा कह देंगे….लेकिन शायद कल ही उन्होंने घरेलू क्रिकेट में हैट्रिक लिया है…. अब चाहे जो हो आरोप साबित हो या न हो… यो तो जांच करने वाली टीम और जिस पर आरोप लगे हैं वो ही जाने लेकिन ये तो तय है कि… जनाब धुंआ भी वहीं से उठता है जहां आग लगी होती है… कम से कम इन खिलाड़ियों को अपनी गरिमा के साथ साथ उनके फैंस की गरिमा का तो ख्याल होना ही चाहिए….

Tags:               

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply