Menu
blogid : 314 postid : 1390746

दुबई में पहले हिन्दू मंदिर का शिलान्यास, जश्न मनाने जुटे हजारों लोग : जानें खास बातें

Pratima Jaiswal
Pratima Jaiswal 22 Apr, 2019

अगर अब आप कभी दुबई घूमने जाएं तो अबूधाबी में आपको एक अलग ही रंग देखने को मिला। इसमें आपको भारतीय संस्कृति की झलक भी देखने को मिलेगी और अगर आप धार्मिक प्रवृत्ति की हैं, तो आप आने वाले कुछ वक्त में अबूधाबी में बने पहले मंदिर में घूम सकते हैं। यूएई की राजधानी अबू धाबी में शनिवार को पहले हिंदू मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम में सैंकड़ों लोग शामिल हुए। इसका निर्माण बोचासंवासी श्री अक्षर-पुरूषोत्तम स्वामीनारायण संस्था कर रही है। संस्था के आध्यात्मिक प्रमुख महंत स्वामी महाराज ने करीब चार घंटे के इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इसके बाद मुख्य पूजा स्थल पर पवित्र ईंटें रखी गईं।

 

 

शिलान्यास पर पढ़ा गया पीएम मोदी का बयान
यूएई में भारतीय राजदूत नवदीप सूरी ने इस अवसर पर खाड़ी देश को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक बयान पढ़ा। सूरी ने प्रधानमंत्री मोदी के हवाले से कहा कि 130 करोड़ भारतीयों की ओर से प्रिय मित्र और अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान को शुभकामनाएं देना उनका सौभाग्य है। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य पूरा हो जाने के बाद यह मंदिर सार्वभौमिक मानवीय मूल्यों और आध्यात्मिक नैतिकता का प्रतीक होगा जो भारत तथा यूएई दोनों की साझा विरासत है।

 

 

‘दुबई में रहने वाले 33 लाख भारतीयों के लिए प्रेरणास्त्रोत’
सूरी ने कहा कि मंदिर वसुधैव कुटुम्बकम यानी पूरी दुनिया एक परिवार है, के वैदिक मूल्यों का प्रतीक है। सूरी ने प्रधानमंत्री मोदी के हवाले से कहा, ‘मुझे यकीन है कि यह मंदिर यूएई में रहने वाले 33 लाख भारतीयों और अन्य सभी संस्कृतियों के लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत होगा।’ अबू धाबी में मंदिर बनाने की योजना को 2015 में मोदी की देश की पहली यात्रा के दौरान स्थानीय सरकार ने मंजूरी दी थी।…Next

 

Read More :

संयुक्त राष्ट्र ने जैश आंतकी मौलाना मसूद अजहर पर बैन लगाया, तो क्या होगा उसपर असर

इन 7 लोगों को थी सर्जिकल स्ट्राइक 2 प्लान की खबर, पुलवामा अटैक के बाद शुरू कर दी थी तैयारी

पुलवामा हमले से जिंदा बचकर लौटा यह जवान, एक मोबाइल मैसेज ने बचाई जान

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *