Menu
blogid : 314 postid : 1389604

यूपी में ही रहेगा पतंजलि फूड पार्क, सरकार से इसलिए खफा थे आचार्य बालकृष्ण

Shilpi Singh
Shilpi Singh 6 Jun, 2018

योग गुरू रामदेव पतंजलि आयुर्वेद का एक फूड पार्क ग्रेएटर नोएडा में लगाना चाहते थे, जिसके लिए उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार से अनुमति भी मांग थी। लेकिन सरकार की तरफ से कोई खास सहयोग न मिलने के बाद कल पतंजलि ग्रुप के एमडी आचार्य बालकृष्‍ण ने एक ट्वीट में लिखा कि, ‘यूपी सरकार के निराशाजनक रवैये के वजह से फूड पार्क को शिफ्ट किया जा रहा है, अब किसानों का जीवन बेहतर नहीं हो पाएगा।’ बता दें, नोएडा में फूड पार्क की आधारशिला प्रदेश में पिछली सरकार के मुखिया अखिलेश यादव ने रखी थी। हालांकि जैसे ही ये मामला सीएम योगी तक पहुंचा उन्होंने फौरन मामले को शांत किया और रामदेव को प्रदेश से फूड पार्क न हटाए जाने के लिए बात कर ली, फिलहाल खबर है कि सीएम से बात के बाद ये प्रोजेक्ट यही रहेगा।

 

 

सीएम योगी ने संभाला मामला

यूपी के नोएडा में बनने वाले पतंजलि फूड एंड हर्बल पार्क के लिए जमीन आवंटन यूपी सरकार द्वारा रद्द किए जाने से बवाल शुरू हुआ तो कुछ ही घंटे में सीएम योगी आदित्यनाथ ने बाबा रामदेव से बात की और मामले को जल्द सुलझाने का भरोसा दिलाया। इसके बाद यूपी सरकार की ओर से कहा गया कि फूड पार्क ग्रेटर नोएडा से बाहर नहीं जाएगा और मामला जल्द ही सुलझा लिया जाएगा।

 

 

पतंजलि को टाइटल सूट नहीं सौंपा गया

पतंजलि ग्रुप के प्रवक्ता एस के तिजारावाला के मुताबिक, ‘नोएडा में बनने वाले पतंजलि फूड पार्क की जमीन के टाइटल सूट के लिए केंद्र सरकार की ओर से दो बार नोटिस भेजा गया था,लेकिन योगी सरकार की ओर से पतंजलि को टाइटल सूट नहीं सौंपा गया। इस वजह से ये दिक्‍कत आई है। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि हमने बार बार विनती की लेकिन पतंजलि के नाम का टाइटल अभी तक नहीं दिया गया।

 

 

दो महीने से लटका है मामला

उत्तर प्रदेश शासन को पतंजलि हर्बल एंड फ़ूड पार्क के नाम से टाइटल देना था और इस नाम की एनओसी जारी करनी थी। लेकिन दो महीने से इस प्रक्रिया को लटका कर रखा गया। प्रदेश सरकार की हीलाहवाली के चलते ही पतंजलि ने इस फ़ूड पार्क को कहीं और शिफ्ट करने का फैसला लिया है। अभी तक पतंजलि ने यहां साइट ऑफिस और फ़ूड पार्क की बाउंड्री तैयार कर ली है।

 

 

1666.80 करोड़ रुपये की परियोजना

पंतजलि के इस परियोजना की लागत 1666.80 करोड़ रुपये के पास है, ये फूड पार्क 455 एकड़ में बनना था। बाबा रामदेव के मुताबिक, इस फूड पार्क से 8000 से अधिक लोगों को सीधा रोजगार और 80 हजार लोगों को परोक्ष रोजगार मिलता। यूपी में अखिलेश यादव ने मुख्‍यमंत्री रहते हुए इस फूड पार्क की आधारशिला रखी थी।…Next

 

Read More:

साउथ कैंपस, मोती बाग समेत इन 10 स्टेशनों के नाम बदले जाएंगे

15 जुलाई से पहले पूरे देश में छा जाएंगे मानसून के बादल, ऐसे होती है मानसून की पुष्टि

IRCTC का बदला अंदाज, पहले ही बता देगा टिकट कन्फर्म होगी या नहीं

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *