Menu
blogid : 314 postid : 830285

कमाल हो गया! मरी हुई मछली से निकला जिंदा मेंढक

फेसबुक पर आजकल एक फोटो काफी शेयर की जा रही है. अब आप सोचेंगे कि कुछ तो दिलचस्प होगा उस तस्वीर में जो लोग उसे इतना पसंद कर रहे हैं. तो बता दें कि तस्वीर दिलचस्प होने के साथ-साथ हैरान करने वाली भी है. यह एक मछली और मेंढक की तस्वीर है, लेकिन इसमें ऐसा क्या खास है जो लोगों को इतना भा रहा है.


fish frog


यह तस्वीर एक मछुआरे द्वारा ली गई है लेकिन कब और कैसे आईये जानते हैं. दरअसल यह तस्वीर ऑस्ट्रेलिया के क्वीन्सलैंड इलाके के टाउंसविले क्षेत्र की है जहां एंग्लर एंगस जेम्स नाम के एक मछुआरे के जाल में एक बड़ी व मोटी-ताजी मछली फंस गई. इस बड़ी मछली को देख जेम्स की खुशी का ठिकाना ना रहा लेकिन जैसे ही उसने मछली का मुंह खोलकर देखा तो वो हैरान रह गया.


Read: मेंढक की वजह से गर्भवती हुई महिला! दिया मेंढक की तरह दिखने वाले बच्चे को जन्म


जेम्स का कहना है कि मछली को पकड़ने के कुछ पल बाद ही वह मर गई. लेकिन उसके बाद जब जेम्स ने उसका मुंह खोला तो उसमें एक मेंढक को बैठे देखा. पहले तो उसे लगा कि शायद यह हरी चीज कोई खास तरह की घास है जो गुच्छे के रूप में मछली के मुंह के अंदर इकट्ठा हो रखी है लेकिन जेम्स को धक्का तब लगा जब अचानक उस मेंढक ने अपनी आंखें खोली.


fish frog fisherman2


अब आप सोच रहे होंगे कि पक्का उस मछली ने उस मेंढक को खाने के लिए अपने मुंह में डाला होगा और उसे काफी सताया भी होगा लेकिन जेम्स के अनुसार शायद ऐसा कुछ भी नहीं हुआ होगा. इसका कारण है मछली का मुंह खोलने के बाद बेहद सुकून वाली मुस्कान के साथ बैठा मेंढक. जी हां, जेम्स ने बताया कि वह मेंढक बिना किसी परेशानी के उस विशाल मछली के मुंह में बैठा था.


Read: इस तस्वीर के कारण क्यों माँग रहा है फेसबुक माफ़ी


लेकिन इससे पहले कि जेम्स उस मेंढक को मछली के गले से बाहर निकाल पाते वह उनके सिर के ऊपर से छलांग लगाकर वहां से चलता बना. लेकिन तब तक चतुर जेम्स उसकी एक तस्वीर अपने कैमरे में कैद कर चुके थे. इस तस्वीर को बाद में जेम्स ने एक कीड़े-मकौड़ों की एक मैगजीन को भेज दिया जिन्होंने इस पर खास कहानी बनाते हुए फेसबुक पर शेयर किया. इसी के चलते यह तस्वीर फेसबुक पर इतनी लोकप्रिय हो रही है.


fish frog fisherman


इस तस्वीर में जिस मेंढक को आप देख रहे हैं वो कोई आम मेंढक नहीं है. यह हरे रंग का मेंढक ऑस्ट्रेलिया के पड़ोसी इलाकों न्यू गुएना, न्यूजीलैंड और अमेरिका में ही पाए जाते हैं. इसकी खासियत है इसकी लंबाई जो अधिकतम चार इंच तक भी हो सकती है.


किसी मेंढक के बारे में यह बात लोकप्रिय है कि एक मेंढक खतरे की आहट में कम से कम 16 वर्षों तक खुद को कैद में रख सकता है. लेकिन जेम्स के अनुसार मछली के मुंह में बैठे इस मेंढक को देख यह कहना मुश्किल है कि वो किस प्रकार के खतरे में था. Next….


Read more:

आंसू की जगह आंख से निकलता है खून, सिरदर्द बना हुआ है इस बीमारी का इलाज ढूंढना


मंगलयान मिशन के नायक: इन वैज्ञानिकों ने विश्व में भारत को किया गौरवान्वित


हाई स्कूल पास करते-करते लग गए 93 साल…आंखों से छलकी खुशी

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *