Menu
blogid : 314 postid : 1212474

2 साल बाद इस महिला की असलियत आई सामने, पुलिस हैरान

पंजाब के गुरदासपुर में कंवलजीत को यह अंदाजा नहीं था कि वह कभी पुलिस के हत्थे चढ़ेगी. वह 2 साल से अपने इलाके के लोगों को वर्दी का रौब दिखा रही थी. लेकिन एक दिन उसका यही रौब उसे जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया. दरअसल गुरदासपुर के पुलिस थाने में मौजूद कंवलजीत फर्जी सहायक इंस्पेक्टर बनकर अपने प्रेमी सहित कई लोगों को बेवकूफ बना रही थी. इसने अपने प्रेमी को बताया था कि वह पुलिस में नौकरी कर रही है.


police


पुलिस से पूछताछ के बाद कंवलजीत ने बताया कि जिस प्रेमी के साथ वह शादी करना चाहती थी उसके परिजनों का कहना था कि वह अपने बेटे की शादी सरकारी मुलाजिम के साथ ही करेंगे. इसके लिए उसे ऐसा करना पड़ा. हालांकि पुलिस उसकी बात पर यकीन नहीं कर रही है.


read: दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल के शराब पीकर वॉयरल हुए वीडियो का चौंका देने वाला सच आया सबके सामने


police6


ऐसे पकड़ी गई कंवलजीत

कंवलजीत बेनकाब तब हुई जब वह वर्दी पहनकर ब्वॉयफ्रेंड के साथ पुलिस लाइन पहुंची. पुलिस कर्मियों ने उसका आईकार्ड मांगा तो उसके पास कुछ नहीं निकला. बैच और ट्रेनिंग के बारे में पूछने पर फटाक जवाब दिया, फिल्लौर में ट्रेनिंग हुई. इसके बाद पुलिस ने उससे इंचार्ज का नाम पूछा, तो उसने कुलदीप सिंह नाम लिया. कड़ाई से कुछ और सवाल पूछने के बाद पता चला कि वह नकली एएसआई है.


police20


शादी के चक्कर में पहनी वर्दी

गुरदासपुर के एक कॉलेज से बीसीए करने वाली कंवलजीत ने यह वर्दी अमृतसर के कैरों मार्केट से खरीदी थी. कंवलजीत ने बताया कि उसका मकसद किसी को चोट पहुंचाना या ब्लैकमेल करना नहीं था बल्कि जिस लड़के के साथ उसकी शादी की बात चल रही थी उसके परिजनों का कहना था कि वह अपने बेटे की शादी उस लड़की से करेंगे जो सरकारी नौकरी करती हो. शादी करवाने के चक्कर में उसे फर्जी पुलिस मुलाजिम बनना पड़ा…Next


read more

ये है महिला नागा साधुओं की रहस्यमय दुनिया, हैरान कर देगी इनसे जुड़ी 10 बातें

तो ऐसे आई भारत में पहली बार एड्स बीमारी, इस महिला ने लगाया पता

ISIS आतंकियों को मारना इस महिला के लिए सबसे आसान काम



Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *