Menu
blogid : 314 postid : 1339984

अमिताभ को कुमार विश्वास ने थमाए 32 रुपए, अमिताभ ने भेजा था नोटिस

आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास आए दिन किसी न किसी विवाद में फंसते ही रहते हैं. अब एक नया विवाद उनका पीछा कर रहा है. कुमार विश्वास द्वारा हरिवंश राय बच्चन की एक कविता ‘नीड़ का निर्माण’ गाने और उसका वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करने के चलते सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने उन्हें लीगल नोटिस भेजा है. अमिताभ का आरोप है कि कुमार विश्वास ने उनके पिता की कविता का इस्तेमाल कर कॉपीराइट कानून का उल्लंघन किया.


cover amitabh

कुमार विश्वास ने हरिवंश राय बच्चन की ‘नीड़ का निर्माण’ कविता गाई थी और उसे यूट्यूब पर भी अपलोड किया था. कुमार यूट्यूब पर ‘तर्पण’ नाम से अपने वीडियो शेयर करते हैं, उन्‍होंने 8 जुलाई को इस कविता को शेयर किया था. हालांकि, कुमार विश्वास द्वारा इस कविता को शेयर करते हुए बकायदा हरिवंश राय बच्चन को क्रेडिट भी दिया था.



amitabh



अमिताभ बच्‍चन ने नोटिस के जरिये कुमार से मांग की कि वो इस वीडियो/ऑडियो को तुरंत डिलीट करें और इससे कमाया गया पैसा दें. इसके बाद कुमार विश्वास ने एक ट्वीट के जरिये अमिताभ बच्‍चन से कहा कि ‘सभी कवियों से मुझे इसके लिए सराहना मिली, लेकिन आपसे नोटिस मिला. बाबूजी को श्रद्धांजलि का वीडियो डिलीट कर रहा हूं. साथ ही आपके द्वारा मांगने पर 32 रुपये भेज रहा हूं, जो इससे कमाए हैं. प्रणाम’.


kumar vishwas


इसके बाद अमिताभ बच्चन ने बीते 10 जुलाई को कुमार विश्वास को टैग करते हुए टवीट किया, जिसमें उन्‍होंने इस वीडियो को लेकर कहा  ‘ये कॉपीराइट का उल्‍लंघन है. हमारा लीगल डिपार्टमेंट इस बात की सुध लेगा…Next



Read More:

मरती हुई बहू को ससुर ने दिया ऐसा तोहफा, जो उसके मायकेवाले भी नहीं कर पाए

भारतीय इतिहास में दो राष्ट्रपतियों की ऑफिस में हुई थी मौत, जानें भारत के राष्ट्रपति पद से जुड़ी ऐसी ही खास बातें

रोजे की सहरी खाने उठे थे ये जवान, लश्कर आतंकियों के हमले को ऐसे कर दिया नाकाम

मरती हुई बहू को ससुर ने दिया ऐसा तोहफा, जो उसके मायकेवाले भी नहीं कर पाए
भारतीय इतिहास में दो राष्ट्रपतियों की ऑफिस में हुई थी मौत, जानें भारत के राष्ट्रपति पद से जुड़ी ऐसी ही खास बातें
रोजे की सहरी खाने उठे थे ये जवान, लश्कर आतंकियों के हमले को ऐसे कर दिया नाकाम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *